स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मेहंदीपुर बालाजी महंत ने गोशाला समिति को दिया आर्थिक सहयोग

Gaurav Kumar Khandelwal

Publish: Oct 13, 2019 07:44 AM | Updated: Oct 13, 2019 07:44 AM

Dausa

Mehandipur balaji Mahant gave financial support to Goshala Committee: गाय की सेवा का बताया महत्व

मेहंदीपुर बालाजी. श्रीबालाजी महाराज घाटा मेहंदीपुर बालाजी मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष महंत किशोरपुरी महाराज ने गौ सेवा समिति हरिदासजी मोहचिंगपुरा के पदाधिकारियों को गौ वंश की रक्षार्थ 10 लाख 6 1 हजार का चेक दिया है। गौ सेवा समिति के लोगों ने महंत किशोरपुरी से अनुरोध किया कि उन्हें गायों के लिए एक 28 गुणा 150 फीट आकार की सीसी छत के छाया शैड निर्माण की जरूरत है।

समिति के लोगों ने ट्रस्ट अध्यक्ष को आवारा गायों व संचालित गोशाला के खुले आसमान के नीचे सर्दी-बारिश में रहने की विवशता बताई। इस पर महंत ने संचालक मंडल से आरसीसी निर्माण पर विचार किया व बालाजी मंदिर ट्रस्ट को मौका स्थिति जांच करने ट्रस्ट सदस्यों को गोशाला भिजवाया। बालाजी मंदिर ट्रस्ट सदस्यों ने गोशाला स्थल पर लगभग 100 गायों को सुनिश्चित रूप से रखने जाने योग्य आरसीसी की उपलब्धता बताई।इस पर गोशाला प्रबंधक मंडल के आरसीसी निर्माण के अनुरोध पर महंत किशोरपुरी ने गोशाला समिति को तत्काल 10 लाख 6 1 हजार का चेक प्रबंधक मंडल को दिया।


महंत ने गौ सेवा का महत्व बताया...


महंत किशोरपुरी ने गौ सेवा का महत्व बताते हुए कहा कि गौ माता के शरीर में && करोड़ देवताओं का वास होता हैं। गौ-सेवा से एक साथ && करोड़ देवता प्रसन्न होते हैं। हिन्दू संस्कृति में जिस घर में गाय माता निवास करती हैं एवं जहां गौ सेवा होती है, उस घर से समस्त परेशानियां कोसों दूर रहती हैं। हमारी संस्कृति में गाय को माता का सम्मान दिया जाता हैं।


तीस मरीजों का नि:शुल्क उपचार


नांगल राजावतान. उपखण्ड मुख्यालय के राजकीय आदर्श प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर शनिवार को गीता देवी मेमोरियल आई अस्पताल लालसोट के तत्वावधान में नि:शुल्क चिकित्सा शिविर लगाया गया। इसमें 30 मरीजों की आंखों की जांच कर दवा वितरण की गई। अस्पताल के कृष्णकुमार शर्मा ने बताया कि शिविर में 30 मरीजों का रजिस्टेशन कर आंखों की जांच कर उपचार किया गया। इसमें से 5 मरीजों को नि:शुल्क ऑपरेशन के लिए भर्ती किया गया। इस मौके पर बाबूलाल, विक्रम आदि मौजूद थे।