स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

महापंचायत को महापड़ाव में किया तब्दील, किरोड़ीलाल मीना ने किया समर्थन

Gaurav Kumar Khandelwal

Publish: Aug 17, 2019 08:27 AM | Updated: Aug 17, 2019 08:27 AM

Dausa

Mahapanchayat transformed into Mahapadav, Kirodilal Meena supported: उचित मुआवजा नहीं मिलते तक जारी रहेगा महापड़ाव , एक्सप्रेस हाइवे पर भूमि के मुआवजे का मामला, किरोड़ीलाल मीना ने कहा कि काश्तकारों की मांग वाजिब, पुलिस जाप्ता मौके पर रहा तैनात

भाण्डारेज. जिले में होकर गुजरने वाले एक्सप्रेस हाइवे के मामले में उचित मुआवजे की मांग को लेकर शुक्रवार को धाना के बन्ध पर आयेाजित महापंचायत देर शाम आयेाजकों द्वारा महापडाव में तब्दील कर दिया गया। महापचंायत में पहुंचे राÓयसभा संासद किरोड़ीलाल मीना ने काश्तकारों की मांगों को वाजिब बताते हुए उनका समर्थन किया ओर कहा कि काश्ताकारों के हितों को ध्यान में रखते हुए प्रशासन को कार्रवाई करनी चाहिए। राजस्थान व हरियाणा के किसानों में कोई अन्तर नहीं है तो फिर मुआवजे में अन्तर क्यों किया जा रहा है। जो पेराफेरी क्ष़ेत्र का मामला हैं उस पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए।

Mahapanchayat transformed into Mahapadav, Kirodilal Meena supported

 

 

 

उन्होंने विश्वास दिलाया कि काश्तकार एक कदम चले तो वे चार कदम साथ चलने को तैयार हैं।उन्होंने कहा कि संघर्ष समिति जो भी निर्णय लेगी, वे उसके साथ हैं। प्रदेश सरकार को इस पर ध्यान देकर आवश्यक कदम उठाने चाहिए। इसके बाद काश्ताकारों ने महांपचायत को महापड़ाव में बदलने का ऐलान किया;

 

 


उल्लेखनीय है कि गत महिनों से काश्तकार उचित मुआवजे की मांग को लेकर जगह-जगह महापंचायत व बैठके कर अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन दे रहे हैं इसके लिए गत महिने की 22 जुलाई को भी प्रशासन ने काश्ताकारो से वार्ता कर उनकी समस्या के समाधान की बात कही थी, लेकिन काश्तकारों व प्रशासन के बीच सुलह नहीं हो पाने के चलते शुक्रवार को काश्ताकारों द्वारा महांपचायत का ऐलान किया था। ऐसे में सुबह से ही काश्ताकारों का एकत्र होना शुरू हो गया था।

 

 

प्रशासन के अधिकारी भी काश्तकारों की पल- पल की कार्रवाईपर नजर जमाए हुए थे। इसी बीच दोपहर तक महापंचायत स्थल पर मौसम के खराब होने के बाद भी सैकडों की संख्या में काश्तकारो का जुटना शुरू हो गया।वक्ताओं द्वारा बाजार भाव के अनुसार मुआवजा नहीं देने सहित भूमि अधिग्रहण को लेकर नियमानुसार पालना नहीं करने की बात कही।उन्होंने कहा कि काश्तकारों को जमीन का औने पौने दामों का मुआवजा दिया जा रहा है। जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

 

Mahapanchayat transformed into Mahapadav, Kirodilal Meena supported

 

प्रदेश संघर्ष समिति के अध्यक्ष हिम्मतसिंह पाड़ली, जिलाध्यक्ष जीतू श्यालावास, रामधन हवलदार, पप्पूलाल मीना, रामस्वरूप रैणी, बनवारी बरखेड़ा, बुद्धसिह तुगड़, बन्नेसिंह, कमल सिर्रा, हनुमान सिंह राजपूत, मोहरपाल पूर्व उपप्रधान,हरिसिंह, आत्माराम मीना, जगदीश मीना, कैलाश संरपच देवली ने अपने विचार व्यक्त किए।

 


यह रहे मौके पर मौजूद
अतिरिक्त जिला कलक्टर लोकेश मीना, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार, उपखण्ड अधिकारी गोरधन लाल शर्मा, पुलिस उपाधीक्षक अकलेश्वर शर्मा सहित अन्य अधिकारी काश्तकारों की महापंचायत पर नजर बनाए हुए थे।

Mahapanchayat transformed into Mahapadav, Kirodilal Meena supported