स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ऋषिकेश में मिला आईआईटी छात्र पवन, आखिर परिजनों ने ही ढूंढ़ लिया

Gaurav Kumar Khandelwal

Publish: Jul 20, 2019 07:53 AM | Updated: Jul 20, 2019 07:53 AM

Dausa

Found IIT student Pawan in Rishikesh, after all, only relatives found: मोबाइल का बैकअप परिजनों के लिए हुआ कारगर साबित

बांदीकुई. धौली गुमटी ग्यारसावालों का बास निवासी लापता हुए आईआईटी रूड़की के छात्र को आखिरकार परिजनों ने ही ढूंढ लिया। यह छात्र ऋषिकेश में टेम्पो में सवार होकर जा रहा था। परिजनों की छात्र पर नजर पड़ गई तो टेम्पों को रुकवाकर उसे उतार लिया। देर शाम छात्र को लेकर परिजन बांदीकुई के लिए रवाना हो गए हैं। छात्र के पिता छुट्टनलाल सैनी ने बताया कि गत 17 जुलाई को दोपहर करीब पौने 3 बजे उसका बेटा पवन सैनी घर पर सुसाइड नोट छोड़कर एवं मोबाइल फोरमेट करके घर से लापता हो गया।

Found IIT student Pawan in Rishikesh, after all, only relatives found

 

 

इस पर बसवा थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई। आस-पास काफी तलाश किया, लेकिन कोई सुराग नहीं लगा। इसके बाद बेटा जो मोबाइल घर छोड़कर गया, उसका बैकअप लेकर जांच की तो पवन द्वारा यू-ट्यूब पर ऋषिकेश व हरिद्वार की लोकेशन सर्च होना पाया गया, वहीं ट्रेन की लोकेशन भी बांदीकुई से ऋषिकेश की सर्च की गई थी। पवन बाइक पर बैठकर स्टेशन की ओर ही गया। स्टेशन जाकर 3 बजे जयपुर, अलवर एवं आगरा की ओर जाने वाली ट्रेनों की जानकारी जुटाई तो अपराह्न 3 बजे बांदीकुई से ऋषिकेश के लिए ट्रेन का जाना पाया गया।

 

 

ऐसे में छात्र के हरिद्वार व ऋषिकेश जाने का शक हुआ तो परिजनों को दूसरी ट्रेन से ऋषिकेश तलाश के लिए भेज दिया। जहां पवन सैनी हाथ में पानी की बोतल लेकर टेम्पों में जाता दिखाई दिया। बाद में टेम्पो को रुकवाकर उसे उतार लिया। बताया जा रहा है कि छात्र का आईआईटी का एक सैमेस्टर क्लियर नहीं हुआ था। इससे परेशान होकर वह घर से निकल गया था।

 

 


परिजनों को मिली राहत


छात्र के ऋषिकेश में मिलने की खबर परिजनों को लगते ही घर में खुशी का माहौल हो गया। उल्लेखनीय है कि सुसाइड नोट मिलने बाद परिजनों का हाल-बेहाल हो गया। छात्र ने लिखा था कि मुझे ढूंढने की कोशिश मत करना। क्योंकि सब वेस्ट है। जहां मैने सुसाइड करने का सोचा है वहां आप पहुंच नहीं पाओगे और जब तक आपको लेटर मिलेगा मै अपना काम कर चुका होऊंगा। आपका यह बेटा जिस पर गर्व था ये तो नालायक निकला। जिसने अपने ही मां बाप का प्यार और भरोसा तोड़ दिया पर हो सके तो मुझे माफ कर देना लिखा हुआ था। इससे परिजन भी घबरा गए थे, लेकिन आखिरकार परिजनों ने ही उसे ढूंढ निकाला।

Found IIT student Pawan in Rishikesh, after all, only relatives found