स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जिला परिषद सदस्यों ने सुनाई पीड़ा, कार्यकाल में एक भी काम नहीं हुआ

Gaurav Kumar Khandelwal

Publish: Dec 10, 2019 09:51 AM | Updated: Dec 10, 2019 09:51 AM

Dausa

District council members heard the pain, no work was done in tenure: जिला परिषद में सोमवार को जिला प्रमुख गीता खटाणा की अध्यक्षता में साधारण सभा हुई।

दौसा. जिला परिषद में जिला प्रमुख गीता खटाणा की अध्यक्षता में साधारण सभा हुई। इसमें अधिकांश जिला परिषद सदस्यों ने कहा कि उनका पांच वर्ष का पूरा कार्यकाल ही निकल गया, लेकिन उनके बताए कोई काम नहीं हुए। कुछ ने तो यहां तक कहा कि जो काम उन्होंने पांच वर्ष पहले पहली साधारण सभा में बताए थे, वे आज तक भी पूरे नहीं हुए।

District council members heard the pain, no work was done in tenure


जिला परिषद में उप जिला प्रमुख सीताराम मीना ने कहा कि उन्होंने पूरे पांच वर्ष में जितने भी काम बताए, उनमें से कोई काम नहीं हुआ। सदस्य कविता बैरवा ने कहा कि यदि कोई अधिकारी उनके बताए काम नहीं करे तो उसके खिलाफ कार्रवाई की अपील का अधिकार होना चाहिए।


सदस्य रामकिशोर मीना ने बताया कि जब वे जिला परिषद में पहली सभा में आए थे, तब उन्होंने पालूंदा फीडर में बिजली के ढीले तार कसने का मुद्दा उठाया था। इसके बाद हर बैठक में वे इस मुद्दे को उठाते आ रहे हैं, लेकिन अभी तक कुछ नहीं हुआ। इस मामले में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एलके बालोत ने बताया कि विद्युत निगम के अधिकारियों ने बेतुका जवाब भेजा है। इसमें बताया कि लम्बे स्पान में लाइन के बीच खम्भे लग जाने पर ही समस्या समाधान हो सकता है, लेकिन खम्भे नहीं लगाए। जबकि यहां पर एक बार तो एक साथ तीन लोगों की करंट से मौत हो चुकी थी।


जिला परिषद सदस्य साबोदेवी ने बताया कि उन्होंने लंगड़ा बालाजी में बिजली से जुड़ी समस्या बताई थी, जिसका आज तक समाधान नहीं हो पाया है। रोशन हवलदार ने बताया कि उनके बताए घरेलू कनेक्शन कई महीनों बाद भी आज तक नहीं हो पाए। हीरालाल सैनी ने बताया कि रात को बिजली की कटौती से आमजन परेशान है। गुलाब मीना ने भी कई मुद्दे उठाए।


दौसा प्रधान दीनदयाल बैरवा ने कहा कि विद्युत निगम 10 एचपी के ट्रंासफॉर्मर नहीं दे रहा है। लोगों को कनेक्शन के लिए घुमाया जा रहा है। लोंगों को छह-छह महीने से कनेक्शन नहीं मिल रहे हैं।


इधर, जिला प्रमुख ने कहा कि आमजन की समस्याओं के निराकरण एवं ग्रामीण विकास की योजनाओं से लोगों को लाभान्वित करवाने के लिए सभी अधिकारी अपने दायित्वों का पालन करें। जनता को समय पर पानी, बिजली, चिकित्सा, शिक्षा, राशन, महिला एवं बाल विकास सहित ग्रामीण विकास की अन्य योजनाओं में सहयोग प्रदान करने के लिए आगे आ कर कार्य करें।


सभा में बांदीकुई विधायक जीआर खटाना ने कहा कि जिले में पेयजल की समस्या के निस्तारण के लिए मुख्यमंत्री से मिलकर पाइप लाइन के लिए बजट देने की मांग की है। मुख्यमंत्री ने भरोसा दिलाया कि आगामी बजट में ईसरदा बांध से पाइप लाइन के लिए पर्याप्त मात्रा में बजट मिलेगा। बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एलके बालोत ने अधिकारियों को जनप्रतिनिधियों की मांगों, शिकायतों एवं कार्यों के बारे में सुनकर शीघ्र निस्तारण करने के निर्देया दिए।


बैठक में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना फेस तृतीय के निर्देशानुसार वर्ष 2011 की जनगणना के आधार पर जिला ग्रामीण सड़क योजना की सूची का अनुमोदन किया गया।


साधारण सभा में बांदीकुई प्रधान सीमा मीना, सिकराय प्रधान बादाम सैनी, लवाण प्रधान ममता गांगडिय़ा, सदस्य महेशचन्द सैनी, विनय मीना, रकम सिंह मीना, शीला कंवर, बृजमोहन शर्मा आदि ने बिजली, पानी, खाद्य सामग्री वितरण सहित अन्य समस्याओं के समाधान के बारे में अवगत करवाया गया।


एक हजार किलोमीटर लम्बी सड़कों का अनुमोदन


साधारण सभा में जिलेभर की 1015.11 किलोमीटर लम्बाई की कुल 117 सड़कों का अनुमोदन किया गया। जिला परिषद के सीईओ ने बताया कि ब्लॉक दौसा की 16 2.8 5 किलोमीटर लम्बी 15 सड़कें, लालसोट की &06 .&2 किलोमीटर लम्बी &4 सड़कें, लवाण की 8 0.20 किलोमीटर लम्बी 10 सड़कें, बांदीकुई की 18 सड़कें 146 .28 किलोमीटर लम्बी, सिकराय ब्लॉक की 18 9.0& किलोमीटर लम्बी 22 सड़कें तथा महुवा की 1&0.&9 किलोमीटर लम्बी 18 सड़कों का अनुमोदन हुआ है।

District council members heard the pain, no work was done in tenure

[MORE_ADVERTISE1]