स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

World Population Day: ये तरीका अपनाकर दे सकते हैं आबादी नियंत्रण और देश विकास में अपना सहयोग

Bhupesh Tripathi

Publish: Jul 11, 2019 16:18 PM | Updated: Jul 11, 2019 17:33 PM

Dantewada

World Population Day: विश्व में आबादी के गिनती में भारत (India) दूसरे स्थान पर आ पंहुचा है और अगर इसी रफ़्तार से जनसँख्या (Increasing Population) बढ़ते गई तो पहले स्थान में जल्द होगा। देश की प्रगति में आबादी का सीधा सम्बन्ध है, इससे बचने के लिए और देश (India's population) के विकास में अपना योगदान देने के लिए हम कुछ बिंदु पर ध्यान देना आवश्यक है।

दंतेवाड़ा। World Population day इस वक्त दुनिया की आबादी 7.7 बिलियन है जो हर दिन, हर घंटे, हर सेकंड बढ़ती जा रही है। ऐसे में बढ़ती आबादी को नियंत्रित करने और आबादी से जुड़ी समस्याओं पर ध्यान केंद्रित करने के मकसद से ही हर साल 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस (World Population Day 2019) मनाया जाता है। हम सब जनते हैं हमारा देश जनसँख्या के मामले में विश्व के गिनती में दुसरे स्थान पर है।

यह कटु सत्य है अगर जनसँख्या ज्यादा होगी तो विकास (devlopment of country) की गति में सीधा प्रभाव पड़ेगा। इसलिए आज के दिन हमे कुछ संकल्प लेने की जरुरत है ताकि देश के विकास में आपका भी योगदान हो। इसके लिए केवल हमे थोड़ी शालीनता से जीवन जीने की जरुरत है। जानिए फैमिली प्लानिंग के उन तरीकों के बारे में जिन्हें अपनाकर आप आबादी नियंत्रण में सहयोग दे सकते हैं...

परिवार नियोजन के तरीके

मेल कॉन्डम के प्रयोग
परिवार नियोजन का सबसे आसान तरीका है मेल कॉन्डम। हर बार पार्टनर संग सम्भोग के दौरान अगर कॉन्डम का इस्तेमाल किया जाए तो प्रेग्नेंसी और STD यानी सेक्शुअली ट्रांसमिटेड डिसीज दोनों के खतरे को कम किया जा सकता है। कॉन्डम्स सस्ते आते हैं और अनचाही प्रेग्नेंसी को रोकने में करीब 80 प्रतिशत तक असरदार माने जाते हैं।

CRIME: शातिर चोरों ने शराब दुकान को बनाया निशाना, आधी रात ताला तोड़ ले उड़े 3 लाख से अधिक के....

विदड्रॉल
विदड्रॉल या पुल आउट- गर्भनिरोध का यह भी एक तरीका है जिसका इस्तेमाल बहुत से पुरुष करते हैं। इस मेथड में इजैक्युलेशन पर कंट्रोल करना होता है ताकि पुरुष अपने पीनिस को इजैक्युलेशन से ठीक पहले ही वजाइना के बाहर ला सके। हालांकि यह गर्भनिरोधक का सबसे अच्छा तरीका नहीं है क्योंकि इसमें प्रेग्नेंसी के साथ-साथ इंफेक्शन का भी खतरा रहता है।

population

गर्म निरोधक गोलियां

गर्म निरोधक गोलियां भी फैमिली प्लानिंग का सबसे आसान और सरल तरीका है। अनचाही प्रेग्नेंसी को रोकने के लिए इन गोलियों को हर दिन लेना होता है। खास बात यह है कि कॉन्डम्स की ही तरह ये गोलियां भी सस्ती होती हैं, सुरक्षित होती हैं और अगर महिलाएं इन्हें समय पर लेती रहें तो प्रेग्नेंसी रोकने में 90 प्रतिशत तक असरदार भी होती हैं। इन गोलियों में मौजूद हॉर्मोन्स ऑव्यूलेशन की प्रक्रिया को रोक देते हैं।

CRIME: प्लास्टिक खरीदने की आड़ में जिले के आउटर में चल रहा है ये गन्दा काम,रसूखदारों का मिल रहा है सपोर्ट

वजाइनल रिंग
यह एक बेहद छोटी लेकिन फ्लेक्सिबल डिवाइस होती है जो हॉर्मोन्स से कोटेड होती है। गर्भनिरोधक गोलियों की तरह यह डिवाइस भी एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टिन रिलीज करती है जिससे कॉन्ट्रसेप्शन होता है। गर्भनिरोधक गोलियों को जहां आपको ओरली हर दिन लेना पड़ता है वहीं, वजाइनल रिंग एक बार वजाइना में इंसर्ट होने के बाद लगातार कम डोज में हॉर्मोन रिलीज करती रहती है।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..
खबरों पर बने रहने के लिए Download करें Hindi news App .