स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

गनतंत्र को गणतंत्र का जवाब, दंतेवाड़ा में 60.1 प्रतिशत मतदान

Karunakant Chaubey

Publish: Sep 23, 2019 21:27 PM | Updated: Sep 23, 2019 21:27 PM

Dantewada

गणतंत्र ने दंतेवाड़ा में गनतंत्र को बैलेट से अपना जवाब दे दिया है। माओवादियों की धमकी और उत्पातों के बावजूद लोगों ने अपना विधायक चुनने के लिए जमकर मतदान किया। कुछ दिनों पूर्व तक इंद्रावती नदी की बाढ़ में फंसे क्षेत्रों में भी मतदान की खबर है।

 

 

रायपुर. गणतंत्र ने दंतेवाड़ा में गनतंत्र को बैलेट से अपना जवाब दे दिया है। माओवादियों की धमकी और उत्पातों के बावजूद लोगों ने अपना विधायक चुनने के लिए जमकर मतदान किया। कुछ दिनों पूर्व तक इंद्रावती नदी की बाढ़ में फंसे क्षेत्रों में भी मतदान की खबर है।

राज्य निर्वाचन आयोग ने लिया ऐसा फैसला की अब सैकड़ो नेता नहीं लड़ पाएंगे निकाय चुनाव

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने बताया, मुताबिक दंतेवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के 1 लाख 88 हजार 263 मतदाताओं में से 60.1 प्रतिशत ने वोट डाले हैं। उन्होंने कहा, यह आंकड़े अंतिम नहीं हैं, इनमें इजाफा हो सकता है। 2018 के आमचुनाव में यहां 60.62 प्रतिशत मतदान हुआ था।

देवती महेंद्र कर्मा नहीं रोक पायी अपने आंसू कहा- आप लोगों ने बेटा खोया, मैंने अपना पति

इसी के साथ सभी 9 उम्मीदवारों का भाग्य इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में बंद हो गया है। कांग्रेस की ओर से यहां पूर्व विधायक देवती कर्मा, भाजपा से दिवंगत विधायक भीमा मंडावी की पत्नी ओजस्वी मंडावी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से अजय नाग, सीपीआई से भीमसेन मंडावी, बसपा से हेमंत पोयाम, आप से बल्लूराम भवानी, गोंगपा से योगेश मरकाम और निर्दलीय सुदरु राम कुंजाम यहां अपना भाग्य आजमा रहे थे।

बेहोशी की हालत में सोई हुई है सरकार, सारे विकास के काम बंद- पूर्व मुख्यमंत्री

मतदान के बाद सुरक्षा बलों के घेरे में मतदान दलों की वापसी हुई है। दूर-दराज के इलाकों के मतदान दल आधी रात तक लौटते रहे। मतदान दलों और मतदाताओं की सुरक्षा के लिए राज्य पुलिस और केंद्रीय अद्र्घसैनिक बलों की ओर से भारी इंतजाम किए गए थे। पूरे मतदान के दौरान किसी माओवादी घटना की सूचना नहीं है। इस चुनाव के नतीजे 27 सितम्बर को आएंगे।
बॉक्स

पीठासीन अधिकारी की मौत

कटेकल्याण विकास खंड के चिकपाल मतदान केंद्र के पीठासीन अधिकारी चंद्र प्रकाश ठाकुर की मौत हो गई। उन्हें दिल का दौरा पड़ा था। बताया जा रहा है कि मतदान के दौरान उनकी तबीयत खराब हुई। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। उनकी जगह पर रिजर्व अधिकारी को मतदान केंद्र भेजा गया।

अचार संहिता उल्लंघन पर भड़के रमन सिंह, कहा- कलक्टर को आंखों से यदि कम दिखता है तो बदल लें चश्मा

पुलिया के नीचे मिला दो किलो का आईईडी

कटेकल्याण क्षेत्र में सुरक्षाबलों ने एक पुलिया के नीचे लगा दो किलो का आईईडी बरामद किया। इसके साथ करीब 200 मीटर का तार भी लगा था। परचेली मार्ग में सुरक्षा बल के जवानों ने आईईडी निकालकर उसे निष्क्रिय किया।
बॉक्स

पूर्व माओवादियों ने भी किया मतदान

महज 2-3 दिन पहले आत्मसमर्पण कर चुके माओवादी नीलो और मिडियामी भीमा कांछा ने भी चुनाव में वोट डाले। इस दौरान दोनों ने लोकतंत्र के जरिए जीवन में बदलाव लाने का संदेश दिया।

डीजीपी ने बताया ऐतिहासिक

डीजीपी डीएम अवस्थी ने शांतिपूर्ण मतदान को ऐतिहासिक उपलब्धि बताया है। उन्होंने कहा, इस चुनाव में कोई माओवादी घटना नहीं हुई। मतदान दलों के वापस लौटने का सिलसिला शुरू हो गया है। देररात तक सभी जिला मुख्यालय तक पहुंच जाएंगे। डीजीपी ने संवाददाताओं से बातचीत में बताया, काफी समय से दंतेवाड़ा में माओवादियों के जमावड़े की सूचना मिल रही थी। सुरक्षाबलों की सतर्कता के कारण कोई अनहोनी नहीं हुई है।