स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एक - एक लाख के दो इनामी माओवादी को घेराबंदी कर फाॅर्स ने किया गिरफ्तार

Dinesh Yadu

Publish: Dec 17, 2019 19:35 PM | Updated: Dec 17, 2019 19:38 PM

Dantewada

बस्तर आईजी सुन्दर आज पी के मार्गदर्शन में नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत एक-एक लाख के दो माओवादियों को दंतेवाड़ा पुलिस ने किया गिरफ्तार।

रायपुर। बस्तर आईजी सुन्दर आज पी के मार्गदर्शन में नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत एक-एक लाख के दो माओवादियों को दंतेवाड़ा पुलिस ने किया गिरफ्तार। दंतेवाड़ा एसपी डॉ अभिषेक पल्लव ने बताया डीआरजी दंतेवाड़ा एवं थाना कटेकल्याण की संयुक्त पुलिस पार्टी द्वारा कटेकल्याण क्षेत्र के ग्राम परचेली, चिकपाल, मारजूम क्षेत्र में नक्सलियों की उपस्थिति की मुखबिर की सूचना पर सर्चिंग पार्टी रवाना हुई।

पुलिस की सर्चिंग गश्त के दौरान मारज़ूम जंगलपारा में दो संदिग्ध व्यक्ति पुलिस पार्टी को देखकर भागने लगे जिन्हें पुलिस ने घेराबंदी करके पकड़ा,पुलिस द्वारा दोनों व्यक्तियों से पूछताछ करने पर माओवादी संगठन के लिए काम करना एवं अपना नाम सुखराम पोडिय़ाम और सुकलु पोडिय़ाम बताया। सुखराम पोडिय़ाम एलजीएस सदस्य वा सुकलू पोडिय़ाम जनताना सरकार अध्यक्ष के रुप में माओवादियों के लिए कार्य करते थे।

सुखराम कटेकल्याण क्षेत्र के एमजीएस सदस्य के रुप में कई घटनाओं में शामिल था।
1. मार्च 2019 को कोरोपाल व केलपाल के बीच प्रेशर बम विस्फोट करने की घटना में शामिल था ,जिसमें पखनार चौकी का एक जवान घायल हो गया था ।
2. मई 2016 में परचेली व मारजूम के बीच पुलिस - नक्सली मुठभेड़ में भी शामिल था । मुठभेड़ में दो नक्सलियों को पुलिस ने मार गिराया था ।
3. जून 2016 में मुनगा के जंगल में पुलिस गस्त पार्टी को जान से मारने के नियत से विस्फोट और फायरिंग की घटना में शामिल था ।
4. अक्टुबर 2016 में ही मुनगा और चिकपाल के जंगल में एक बार फिर पुलिस गस्त पार्टी पर हमला किया था।
5 फरवरी 2017 में ग्राम नयानार पेनगोंदीपारा के पास बम विस्फोट कर फायरिंग की घटना में भी शामिल था।जिसमें दो पुलिस के जवान घायल हुए थे।

[MORE_ADVERTISE1]
[MORE_ADVERTISE2]

सुकलू पोडिय़ाम जनताना सरकार के अध्यक्ष के रुप में माओवादी के लिए काम करता था। अप्रेल 2017 में ग्राम गुड़से व अरजेलपारा के बीच बम विस्फोट करने की घटना में शामिल था ।जिसमें पुलिस के दो जवान घायल हुए । दोनो माओवादी पुलिस पार्टी के हमलें के अलावा गांव में माओवादियों के बड़े लीडर के आने पर आसपास के ग्रमीणों को एकत्रित करना ,भोजन की व्यवस्था ,सड़क की खुदाई,पुलिस की रेकी करने के साथ गांव में नक्सली विचार धाराओं का प्रचार प्रसार करना ।

[MORE_ADVERTISE3]Two Maoists worth one lakh arrested under siege
IMAGE CREDIT: Dinesh Yadu

गिरिफ्तार माओवादियों के निशानदेही पर पांच इलेक्ट्रिक डेटोनेटर ,एक बैटरी ,बिजली वायर,लोहे के स्पाईक व एक बण्डा बरामद किया गया। छत्तीसगढ़ शासन ने दोनों माओवादियों पर एक-एक लाख की इनाम घोषित किया था।