स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ISIS जैसे आतंकी संगठन की तरह काम कर रहे नक्सली, बेदर्दी से रेत दिया गला

Karunakant Chaubey

Publish: Sep 20, 2019 16:15 PM | Updated: Sep 20, 2019 17:24 PM

Dantewada

युवक ताती बुधराम को पुलिस का मुखबीरी बताते हुए हत्या करने की बात लिखी है। पोस्टर में युवक को टिकनपाल गांव का बताया गया है। किरंदुल पुलिस मौके पर पहुंच गई है।

दंतेवाड़ा. Naxalite Killed Man in Dantewada : थाना से महज एक किलोमीटर दूरी पे पेरपा चोक में माओवादियों ने एक युवक की गला रेत कर हत्या कर दी घटना स्थल पर नक्सलियो ने पोस्टर भी फेके है। जिसमे युवक ताती बुधराम को पुलिस का मुखबीरी बताते हुए हत्या करने की बात लिखी है। पोस्टर में युवक को टिकनपाल गांव का बताया गया है। किरंदुल पुलिस मौके पर पहुंच गई है।

76 जवानो के खून से सने हैं जिसके हाथ उस खूंखार नक्सली ने किया आत्मसमर्पण

आपको बता दे कि जिस वक्त पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह किरंदुल बंगाली कैम्प में अलग अलग समाज की बैठक ले रहे थे और उस वक्त माओवादी कुछ ही दूर में घटना को अंजाम दे रहे थे। दो दिनों से रमन सिंह बैलाडिला क्षेत्र में है और जैसी चाक चौबंद सुरक्षा लगाई गई उसके बाद भी माओवादियों ने युवक को मौत के घाट उतार कर पूरे क्षेत्र में दहशत फैला दी है।

चखना सेंटर वाले के पक्ष में विधायक ने थाने में किया फोन तो मार खाने वाले सिपाहियों पर ही दर्ज हो गया FIR

कही न कही सुरक्षा में अब भी कमी दिख रही है। 23 सितंबर को मतदान होना है ऐसे में माओवादी चुनौती के रूप में है। हत्या की जिम्मेदारी माओवादियों की मलिंगर ऐरिया कमेटी ने ली है। और पोस्टर में लिखा है कि जो भी रुपए की लालच में पुलिस की मुखबीरी करेगा उसको मौत की सज़ा दी जाएगी।

जनमिलिशिया कमाण्डर बोगला में गिरफ्तार

229 बटालियन केरिपु बल की दो कम्पनीयों ने सर्च अभियान के दौरान कई माओवादी घटनाओं में शामिल रहे एक अहम माओवादी कमाण्डर को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। सूचना के आधार पर बुधवार 18 सितम्बर को रात्रि केरिपु बल की दो कम्पनीयां कैम्प मुरकीनार व कैम्प नुकनपाल से बोगला की ओर रवाना हुई थी। इसका नेतृत्व कोरे विशाल, सहायक कमाण्डेंट कर रहे थे।

दहल सकता है छत्तीसगढ़, जैश-ए-मोहम्मद की धमकी के बाद देश भर के नक्सली भी हो रहे इकट्ठा

अभियान के दौरान जब पार्टी बोगला के पास पहुंची तो प्राप्त सूचना के आधार पर संदिग्ध स्थान की घेराबन्दी करके एक संदिग्ध को पकडा। जिसके पास से एक 303 राइफल, 15 जिन्दा राउण्ड कारतूस अन्य सामान के साथ माओवादी साहित्य मिला।

पूछताछ करने पर जिसकी पहचान गणेश तेलम सुपुत्र टोक्का, मिलिशिया कमाण्डर के रूप में हुई। जो कि जिला बीजापुर में घटित विभिन्न आपराधिक घटनाओं में शामिल रहा है। काफी लम्बे समय से सिविल पुलिस व केरिपु बल को इसकी तालाश थी, लेकिन यह सुरक्षा बलों को चकमा देकर भाग जाने में सफल रहता था। माओवादी को गिरफ्तार कर पुलिस थाना मोदकपाल को सौंप दिया गया है।

Read Also: अंतागढ़ टेप केस क्या है, कौन-कौन से नेता इसमें आरोपी है, जानिये इससे जुडी सभी बड़ी बातें 10 Points में