स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

झूठी निकली महिला से 15 हजार रुपए लूट की कहानी, यहां पढ़ें सच

Samved Jain

Publish: Aug 16, 2019 13:49 PM | Updated: Aug 16, 2019 13:49 PM

Damoh

दमोह जिले के बटियागढ़ थाना क्षेत्र के केरबना में सामने आया था मामला, पुलिस के किया एक्सपोज

दमोह. बटियागढ़ थाना क्षेत्र के केरबना गांव के पास बाइक सवार दो लोगों के साथ मारपीट कर 15 हजार रुपए के लूट का मामला बुधवार की रात पहुंचा था। जिसमें घायल मामा-भांजा में से भांजा अरविंद को जबलपुर मेडिकल रेफर किया गया था, जो सागर मेडिकल पहुंचा था, लेकिन जहां इलाज की सुविधा न होने के कारण गुरुवार की शाम पथरिया वापस आ गया है।

 

घटना के संबंध पथरिया एसडीओपी केबी उपाध्याय ने बताया कि पथरिया वार्ड नंबर एक निवासी अरविंद बंसल अपने मामा रामू बंसल व दोस्त गुलबीर यादव केरबना के पास हनुमत घाटी मंदिर दर्शन करने पहुंचे थे। एक बाइक से वापस लौटते समय केरबना में एक दुकान के पास रुके जहां से बिस्कट व गुटखा ले रहे थे। उसी दुकान के सामने दो ऑटो खड़े थे, जिनमें से एक ऑटो में एक महिला व पुरुष बैठे थे। इस दौरान रामू बंसल और महिला के बीच किराए को लेकर हंसी होने लगी। लगता है कि रामू बंसल पहले से जानता था।

इस दौरान महिला के साथ आए पुरुष ने रामू की कॉलर पकड़ ली। फिर अरविंद आया तो उसकी भी कॉलर पकड़ ली। इसके बाद गुलबीर यादव ने बीच बचाव किया। इसके बाद तीनों बाइक पर सवार होकर आगे बढ़े तो महिला पुरुष पीछे से पहुंच गए और केरबना के आगे नाले पर फिर तीनों से झड़प होने लगी। इस दौरान महिला के साथ आए पुरुष का जियो मोबाइल टूट गया। जिसने में गुस्से में सोयाबीन के खेत में फैंक दिया। इसके बाद दोनों से रुपए मांगे तो अरविंद की जेब से 500 व रामू की जेब से 700 रुपए निकले इस तरह कुल 1200 रुपए देकर ये तीनों बाइक से पथरिया आ गए। इसी दौरान पीछे से ऑटो से महिला व पुरुष भी पथरिया आ गए। इधर रामू व अरविंद ने देखा कि अब इनके क्षेत्र में महिला पुरुष आ रहे हैं, जिनसे अपने रुपए वापस लेंगे।

इसी बीच रामू और अरविंद महिला पुरुष पर झपटे तो दोनों ने बड़े पत्थर उठाकर हमला कर दिया, जिससे अरविंद और रामू को चोटें आई। महिला ऑटो से केरबना की तरफ वापस आ गई और साथ आया पुरुष पथरिया में गायब हो गया। दोनों घायलों को पथरिया अस्पताल लाया गया, जहां से दमोह रेफर किया गया। अरविंद के सिर में ज्यादा चोट होने पर उसे जबलपुर मेडिकल रेफर किया गया था, लेकिन वह सागर मेडिकल चला गया, लेकिन वहां मशीन की सुविधा न होने के कारण वह गुरुवार की शाम पथरिया आ गया है और जबलपुर जाने की तैयारी कर रहा है। एसडीओपी केबी उपाध्याय ने बताया कि उन्होंने गुलबीर यादव के बयान लिए हैं। अरविंद व रामू के बयान पथरिया पुलिस द्वारा लिए गए हैं। महिला व पुरुष को भी बुलवाया जा रहा है, जिनके बयान दर्ज किए जाएंगे। 15 हजार लूट की बात बिल्कुल झूठी है, केवल युवकों से मोबाइल टूटने पर 1200 रुपए लिए जाने की बात घायलों के साथी द्वारा दिए गए बयान में ही सामने आई है।