स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

डीआरएम के आदेश पर भी नहीं बदली व्यवस्थाएं, मॉडल स्टेशन पर व्याप्त अव्यवस्थाएं जस की तस

Sanket Shrivastava

Publish: Jul 21, 2019 10:14 AM | Updated: Jul 20, 2019 23:55 PM

Damoh

एक सप्ताह पहले जीएम व डीआरएम जबलपुर द्वारा किया गया था निरीक्षण

दमोह. एक सप्ताह पहले रेल प्रशासन के जीएम व डीआरएम जबलपुर द्वारा दमोह रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया गया था। निरीक्षण के दौरान कुछ अव्यवस्थाएं इनके सामने आईं थीं जिनके संबंध में स्टेशन प्रबंधक को निर्देश दिए गए थे। वहीं डीआरएम द्वारा स्थानीय समाजसेवियों द्वारा प्रस्तुत किए गए विषयों पर भी कार्रवाई की बात कही थी। लेकिन हमेशा की तरह उच्चाधिकारियों के रवाना होते ही स्थिति जस की तस बनना शुरु हो गई। वर्तमान में वहीं अव्यवस्थाएं स्टेशन पर जस की तस बनी हुुईं हैं जिन्हें दुरस्त किए जाने के निर्देश दिए गए थे। इन अव्यवस्थाओं में प्रमुख रुप से स्टेशन के बाजू में शौचालय के पास पर्याप्त रोशनी रखी जाने, सीसीटीवी कैमरों की संख्या बढ़ाने, साइकिल स्टैंड का मुख्य गेट दूसरी दिशा में करने, ऑटो रिक्शा व्यवस्थित खड़े किए जाने, प्लेट फार्म ०२ पर शौचालय की व्यवस्था करने, प्लेटफार्म की हाइट बढ़ाने के संबंध में, खाली स्थानों पर बैंच रखी जाने के संबंध में, टिकट घर के अधिकांश काउंटर खुले रखे जाने, बाल उद्यान के जीर्णोद्धार किए जाने, सुरक्षा व्यवस्था को दुरस्त किए जाने, जीआरपी थाना शुरु कराए जाने व जलसा को सुधारने संबंधी बात कहीं थीं। लेकिन अधिकांश समस्याएं जो स्थानीय स्तर पर दुरस्त होना हैं वह नहीं हो सकीं हैं। इन अव्यवस्थाओं में स्टेशन के बाहर जहां तहां खड़े होने वाले ऑटो रिक्शा, सभी काउंटरों का नहीं खुलना व उस शौचालय पर रोशनी का प्रबंध नहीं होना जहां पर असामाजिक तत्वों की गतिविधियां जारी रहती हैं। यह प्रमुख निर्देश पूरे नहीं किए गए हैं। मामले में स्टेशन प्रबंधक एससी अग्रवाल का कहना है कि कार्यों की रिपोर्ट तैयार हो चुकी है। शीघ्र ही सुधार कार्य शुरु होंगे। शनिवार को देखा गया है कि स्टेशन पर टिकट काउंटरों की स्थिति पहले के जैसी है जो यात्रियों के लिए सबसे अधिक परेशानी का कारण बनी हुई है। दो काउंटर खुलने की वजह से यात्रियों की भीड़ अधिक होती है। महिला व पुरुष यात्रियों को एक ही काउंटर से टिकट दी जा रही है साथ ही दिव्यांगों के लिए बनाया गया काउंटर नहीं खोला जाना सामने आया है।
रेल संघर्ष समिति ने भेजा पत्र
दमोह. क्लास मॉडल रेलवे स्टेशन दमोह से प्रतिदिन 6 हजार लोग विभिन्न गंतव्यों की यात्रा करते हैं। लेकिन हाल ही में शुरु हुईं प्रमुख टे्रनों का स्टॉपेज इस स्टेशन पर नहीं है जिसकी वजह से दमोह रेल संघर्ष समिति ने रेल प्रशासन से स्टॉपेज की मांग पत्र भेजकर की है। समिति के छोटू दबे, प्रांजल चौहान ने बताया है कि ये दोनों ट्रेनें 12823-12824 हजनिजामुद्दीन दुर्ग छत्तीसगढ़ सम्पर्क क्रांति एक्सप्रेस, 12549-12550 जम्मूतवी दुर्ग सुपर फास्ट ट्रेनें प्रदेश के अन्य स्टेशनों पर रुकतीं हैं, लेकिन दमोह में स्टॉपेज नहीं दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि हैरानी बात तो यह है कि इस रूट की दो गाडिय़ां 11701-11702 जबलपुर इन्दौर इन्टरसिटी एक्सप्रेस व 13025-13026 भोपाल हावड़ा एक्सप्रेस पिछले डेढ़ वर्ष से बंद थीं। साथ ही अभी वर्तमान में 01707-01709 अटारी जबलपर एक्सप्रेस का एक दिन इस रूट से कम कर दिया गया है। समिति ने मांग करते हुए कहा है कि बुंदेलखंड के प्रमुख दमोह रेलवे स्टेशनों पर गाडिय़ों के स्टॉपेज शुरु कराए जाएं जिससे रोजाना यात्रा करने वाले इस क्षेत्र के लोगों को आवागमन का लाभ मिल सके।