स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्रदेश में सबसे ज्यादा गर्म रहा दमोह

Rajesh Kumar Pandey

Publish: Jul 20, 2019 07:07 AM | Updated: Jul 19, 2019 22:59 PM

Damoh

बिजली गुल होने से हलाकान रहा दमोह

दमोह. दमोह एक बार फिर तीव्र तापमान की ओर बढऩे लगा है, शुक्रवार को अधिकतम तापमान 39.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं न्यूनतम तापमान 27.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जो पूरे मध्यप्रदेश में सबसे अधिक रहा है। वहीं आधे दमोह में सुबह 6 बजे से दोपहर 1 बजे तक बिजली गुल रहने से तीव्र गर्मी से लोग हलाकन रहे।
शुक्रवार की सुबह जैसे ही सूर्य उदय हुआ तो लालिमा के बाद तीखी चुभन महसूस होने लगी। सुबह 7 बजते ही वातावरण गर्म होने लगा, 10 बजते-बजते लोगों के शरीर से पसीने की धारा छूटने लगी थी। तीव्र गर्मी के कारण दमोह शहर में पिछले दो दिनों से कूलर पंखा निकलने लगे थे। शुक्रवार को सीधे 1.६ डिग्री तापमान में वृद्धि लोगों को असहनीय महसूस हो रही थी।
इधर किसान तीव्र तापमान बढऩे के कारण यदि तीन चार दिन में पानी नहीं गिरता है तो सोयाबीन, उड़द व मूंग में नुकसान होने की संभावना जता रहे हैं। असिंचित खेत जिनके पास सिंचाई के साधन नहीं है, उनके खेतों में दरारें दिखने लगी है। जिन किसानों के पास सिंचाई के साधन उपलब्ध हैं, उन्होंने स्प्रिंकलरों के माध्यम से जीवन रक्षक सिंचाई प्रारंभ कर दी है।
पिछले 10 दिनों से बारिश नहीं हो रही है। जिससे कीटनाशकों का छिड़काव भी नहीं कर पा रहे हैं। समीपस्थ ग्राम भिड़ारी के सरपंच सतीश सप्रे व किसान जगत सिंह ने बताया कि सोयाबीन व उड़द की बोवनी कर चुके किसान मानूसन के सहारे थे। आसमान व ईश्वर भरोसा कर बोवनी की थी, क्योंकि उनके खेतों में सिंचाई के संसाधन नहीं है, अब केवल आसमान की ओर टकटकी लगाए रहने के अलावा कोई चारा नहीं बचा है।
सब स्टेशन की मरम्मत हुई बंद रही बिजली
मरम्मत प्रभारी सीपी चौपड़ा सब स्टेशन किल्लाई नाका का सुधार कार्य कराया गया। बहुत से उपकरण जल गए थे। जो उनको बदला गया है। जिससे चार घंटे तक बिजली प्रभावित रहे। किल्लाई नाका, विजय नगर, मुकेश कॉलोनी, सुरेखा कॉलोनी, तीन गुल्ली, हटा रोड, पलंदी चौराहा, नरसिंह मंदिर तक बिजली में व्यवधान हुआ है। दो भागों में विभाजित किया गया है, जिससे बड़ा क्षेत्र अब प्रभावित नहीं होगा।