स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अल सुबह से मौसम में आया बदलाव, सर्द हवाओं के साथ हुई जमकर बारिश

Sanket Shrivastava

Publish: Jan 23, 2020 06:23 AM | Updated: Jan 23, 2020 01:07 AM

Damoh

मौसम विभाग का अलर्ट जारी, कृषि विभाग ने कीट व्याधि के प्रकोप की आशंका जताई

दमोह. पिछले कुछ दिनों से रूक रूककर बारिश का सिलसिला जारी है। बुधवार की अल सुबह से ही जिले में बारिश का दौर जारी रहा। जिला मुख्यालय में सुबह करीब आधा घंटे की हुई तेज बारिश के बाद दोपहर १२ बजे करीब २० से २५ मिनट जमकर बारिश हुई।
इसके बाद करीब डेढ़ घंटे बाद पुन: बारिश का दौर शुरु हो गया था। वहीं बारिश रुकने पर रिमझिम फुहारों का दौर दिन भर चला। उधर बारिश की वजह से मौसम में भी गिरावट दर्ज हुई है।
मौसम विभाग के अनुसार अधिकतम तापमान २६.५ व न्यूनतम तापमान १० डिग्री दर्ज हुआ है। वहीं जिले में एक एमएम बारिश होना दर्ज की गई है। मौसम जानकारों ने आगामी दिनों बारिश होने और तापमान में गिरावट दर्ज होने की आशंका जाहिर की है। मौसम में चल रहीं सर्द हवाओं और तेज ठंड की वजह से लोगों की परेशानी अभी जारी है। ठंड से बचने के लिए लोगों को गर्म कपड़ों का उपयोग तो करना ही पड़ रहा है साथ ही बारिश के बचाव के इंतजाम भी करते हुए देखा जा रहा है। आसमान पर छाए बादल कभी भी अपना प्रभाव दिखा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ कृषि विभाग ने भी बदले इस मौसम की वजह से किसानों को अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने मौसम के कारण फसलों में कीट व्याधि का प्रकोप बढऩे के आसार बताए हैं।
मौसम पूर्वानुमान से प्राप्त जानकारी के अनुसार अधिकांश क्षेत्रो में दिनांक 23 जनवरी 2020 को भी हल्के बादल छाये रहने की संभवाना है। अधिकतम तापमान 22.23 डिग्री सेंटीग्रेट व न्यूनतम तापमान 9.12 डिग्री की संभावना है। अधिकतम सापेक्षित आद्र्रता 72 से 81 प्रतिशत व न्यूनतम सापेक्षित आद्र्रता 30 से 41 प्रतिशत रहने की संभावना है। आने वाले दिनों में हवा की दिशा उत्तर पूर्व से उत्तर पश्चिम दिशा में चलने व हवा की गति 5 से 12 किमी प्रति घंटे की गति से चलने की संभावना है।
कृषि अनुसंधान केंद्र द्वारा जारी की गई एडवाइजरी के अनुसार कुछ स्थानों मे गेहूं अभी कंसा फूटने की अवस्था पार होकर फूलने की अवस्था मे आ रहा है। इसलिए खेेतों से विजातीय पौधों को निकालकर अलग करें। वहीं मसूर मे माहू चीपक के प्रकोप के लिए अनुकूल है। लगातार बदली के मौसम को देखते हुए दलहन तिलहन व सब्जी वाली फसलों में भी माहू एफिड के प्रकोप की आशंका है। प्रमुख रूप से चना की फसल अब फूलने की अवस्था में हैं और जल्द ही दाना बनने की अवस्था में पहुंच जाएगी। इस इस फसल में इल्ली के प्रकोप की संभावना है। चना में म्लानि या उकठा रोग के लक्षण किसी भी अवस्था में देखे जा सकते हैं। चने में इल्ली का प्रकोप होने की संभावना है इसलिए इल्ली को हाथ से चुनकर नष्ट करें। इसके साथ ही मौसम की वजह से मटर की फसल में चूर्णिल फफूंदी का प्रकोप के आसार बन सकते हैं।

[MORE_ADVERTISE1]