स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Pen Drive से होगा स्‍वामी चिन्‍मयानंद के काले कारनामों का खुलासा, SIT के हाथ लगे अहम सबूत

Dhirendra Kumar Mishra

Publish: Sep 11, 2019 11:05 AM | Updated: Sep 11, 2019 11:07 AM

Crime

  • लॉ कॉलेज पहुंचकर एसआईटी की टीम ने जुटाए सबूत
  • तलाशी में चिन्‍मयानंद के खिलाफ मिले अहम सबूत
  • स्‍वामी के खिलाफ रेप का केस अभी तक नहीं हुआ दर्ज

नई दिल्‍ली। भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) के नेता और पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं। चिन्मयानंद के खिलाफ रेप मामले में SIT ने उनपर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। इस मामले में एसआईटी के अधिकारी पीड़ित छात्रा और उसके परिवार को लेकर हॉस्टल गए। वहां पहुंचने के बाद जांच अधिकारी हॉस्‍टल के कमरे की घंटों तक छानबीन करते रहे।

5 घंटे तक चली तलाशी

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एसआईटी ने पीड़िता के कमरे की करीब पांच घंटे तक तलाशी ली। पीड़ित लड़की के दोस्त ने SIT के अधिकारियों को एक Pen Drive दी है। दोस्त के मुताबिक Pen Drive में चिन्मयानंद के खिलाफ अहम वीडियो साक्ष्य हैं। पीड़ित छात्रा ने भी शिकायत में कई वीडियो साक्ष्य होने की बात कही थी।

अभिषेक मनु सिंघवी ने इमरान खान को दी इस बात की धमकी, कहा- बाज आ जाओ, वरना PoK

यौन शोषण का मामला अभी तक नहीं हुआ दर्ज

इस मामले में पीड़ित परिवार आरोप लगा रहा है कि SIT सरकार के प्रभाव में काम कर रही है। अब तक लड़की की शिकायत के बाद भी चिन्मयानंद के खिलाफ यौन शोषण करने का मामला दर्ज नहीं किया गया है। जबकि SIT लड़की से अब तक 15 घंटे से ज्यादा पूछताछ कर चुकी है, लेकिन चिन्मयानंद से अभी तक पूछताछ नहीं हुई है।

IG नवीन अरोड़ा की अध्यक्षता में गठित SIT पिछले तीन दिनों से शाहजहांपुर में डेरा डालकर मामले की जांच में जुटी है।

चंद्रयान-2: ISRO की आखिरी उम्‍मीद, चांद पर फंसे लैंडर विक्रम का संकटमोचक बनेगा आर्बिटर!

पीड़िता ने किया सबूत होने का दावा

बता दें कि एसआईटी की आधा दर्जन गाड़ियां मंगलवार को अचानक चिन्मयानंद (Chinmayanand) के लॉ कॉलेज के हॉस्टल पहुंचीं। उनके साथ रेप का इल्‍जाम लगाने वाली लड़की और उसके पिता भी थे।

पीड़ित लड़की ने कल प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि रेप के सबूत उसके हॉस्टल के कमरे में हैं। आरोप लगाने वाली लड़की ने कहा था कि सबूत सही समय आने पर दे दिए जाएंगे। हॉस्‍टल के रूम में सारे सबूत सुरक्षित हैं। पीड़िता ने जांच अधिकारियों से हॉस्टल का रूम खुलवाने की अपील की थी।

एसआईटी की टीम मंगलवार को सारे दिन उसके हॉस्टल के कमरे की छानबीन करती रही। उसके साथ आए फोरेंसिक एक्सपर्टों ने वहां से बहुत सारे नमूने उठाए।

कोलकाता एसटीएफ ने JMB आतंकी असदुल्‍लाह शेख गिरफ्तार, चेन्‍नई में वारदात को