स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

टीम इंडिया ने किया ऐसा कारनामा, जो पहले कभी नहीं हुआ, लगातार चार टेस्ट में लगाए चार दोहरे शतक

Mazkoor Alam

Publish: Nov 15, 2019 19:13 PM | Updated: Nov 15, 2019 19:15 PM

Cricket

टीम इंडिया ने टेस्ट क्रिकेट के करीब 150 साल के इतिहास में एक ऐसा रिकॉर्ड बना दिया है, जो भविष्य में भी किसी भी चुनौती रहेगी।

इंदौर : बांग्लादेश के खिलाफ टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने छक्के से जैसे ही दोहरा शतक लगाया, टीम इंडिया ने विश्व रिकॉर्ड कायम कर लिया। मयंक के दोहरा शतक जड़ते ही भारतीय बल्लेबाजों ने लगातार चार टेस्ट में चार दोहरा शतक जड़ दिए। ऐसा कारनामा आज तक कोई टीम नहीं कर सकी है। टेस्ट इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है, जब किसी एक ही टीम के चार बल्लेबाजों ने लगातार चार टेस्ट में चार शतक जड़ दिए हों। यह रिकॉर्ड इसलिए भी बड़ा है, क्योंकि दोहरा शतक बनाना वैसे भी आसान नहीं होता। एक खिलाड़ी अपने पूरे करियर में चार-पांच दोहरे शतक लगाता है। वहां टीम इंडिया का कोई न कोई बल्लेबाज हर मैच में दोहरा शतक जड़ रहा है।

तेंदुलकर ने कहा, अच्छी पिचें न होने से विश्व स्तरीय तेज गेंदबाज नहीं आ रहे सामने

मयंक अग्रवाल ने रखी थी बुनियाद

टीम इंडिया के ओर से टेस्ट मैच में इस बड़े रिकॉर्ड की बुनियाद मयंक अग्रवाल ने ही रखी थी। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन टेस्ट मैच की सीरीज के पहले टेस्ट में दोहरा शतक जड़ा। विशाखापत्तनम के वाइजैग स्टेडियम में खेले गए सीरीज के पहले टेस्ट में उन्होंने 215 रन की पारी खेली। यह मयंक के करियर का पहला शतक था। इसके बाद पुणे में खेले गए इसी सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच में कप्तान विराट कोहली ने नाबाद 254 रनों की पारी खेली। इस सिलसिले को रांची में खेले गए अंतिम टेस्ट में इसी सीरीज में पहली बार सलामी बल्लेबाज की भूमिका में उतरे रोहित शर्मा ने जारी रखा। उन्होंने रांची में 212 रनों की पारी खेल डाली। यह रोहित शर्मा के टेस्ट करियर का पहला दोहरा शतक था।

IPL 2020 : राजस्थान रॉयल्स को बड़ा झटका, गौतम के बाद रहाणे ने भी छोड़ा साथ

अंजाम तक भी मयंक ने ही पहुंचाया

इसके बाद इस रिकॉर्ड को अंजाम तक भी मयंक अग्रवाल ने ही पहुंचाया। बांग्लादेश के खिलाफ इंदौर में खेले जा रहे दो टेस्ट सीरीज के पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन उन्होंने छक्के के साथ अपना दूसरा दोहरा शतक पूरा किया। वह शुक्रवार को 243 रन बनाकर आउट हुए। लेकिन इससे पहले टीम इंडिया के नाम एक ऐसा विश्व रिकॉर्ड आ चुका था, जो टेस्ट क्रिकेट के लगभग 150 सालों के इतिहास में कभी नहीं हुआ था। यह सिलसिला अभी जारी है। देखना है कहां जाकर रुकता है।

[MORE_ADVERTISE1]