स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रवि शास्त्री ने ऋषभ पंत के गैरजिम्मेदार रवैये पर दी चेतावनी, इस बार छोड़ रहे हैं

Mazkoor Alam

Publish: Sep 16, 2019 16:15 PM | Updated: Sep 16, 2019 16:31 PM

Cricket

Rishabh Pant लंबे समय से तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया के पहली पसंद विकेटकीपर बल्लेबाज बने हुए हैं, लेकिन उनके शॉट सेलेक्शन पर अब भी बातें उठ रही है।

नई दिल्ली : महेंद्र सिंह धोनी के उत्तराधिकारी बताए जा रहे ऋषभ पंत ( Rishabh Pant ) लगातार निराश कर रहे हैं। इसके बावजूद चयनकर्ताओं और टीम मैनेजमेंट का विश्वास उन पर बना हुआ है। वह क्रिकेट तीनों फॉर्मेट में विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में पहली पसंद बने हुए हैं, लेकिन लगता है कि अब चयनकर्ताओं और टीम मैनेजमेंट का विश्वास उन पर से डगमने लगा है। पहले मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा कि अगर पंत बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाते तो वह संजू सैमसन और ईशान किशन की तरफ देख सकते हैं तो वहीं अब टीम इंडिया ( Team India ) के मुख्य कोच रवि शास्त्री ( Ravi Shastri ) ने भी ऋषभ पंत को चेतावनी दी है कि अगर वह गलतियां दोहराते रहे तो उन्हें खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

कहा- खामियाजा भुगतने को तैयार रहें पंत

रवि शास्त्री ने कहा कि पंत ने विंडीज दौरे पर निराश किया है। उन्होंने तीसरे वनडे में पहली ही गेंद पर पंत के आउट हो जाने वाली पारी का जिक्र करते हुए कहा कि इस बार तो हम उसे छोड़ रहे हैं। लेकिन अगर पोर्ट ऑफ स्पेन (त्रिनिदाद) में पहली गेंद पर जिस तरह का शॉट खेल कर वह आउट हुए थे, ऐसे ही शॉट दोहराते रहें तो उन्हें इस बारे में बताया जाएगा। उन्होंने कहा कि कौशल हो या न हो, ऐसी गलतियों पर खामियाजा भुगतने के लिए तैयार रहना चाहिए।

भारत को एशिया कप दिलाने वाले अथर्व की जिंदगी नहीं रही आसान, मां को करनी पड़ी कंडक्‍टर की नौकरी

टीम को कर रहे हैं निराश

एक मीडिया से बात करते हुए रवि शास्त्री ने कहा कि यह बिल्कुल सामान्य-सी बात है। खुद को निराश करना तो छोड़िए, टीम को भी आप निराश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब कप्तान क्रीज पर आपके साथ मौजूद हो और लक्ष्य का पीछा कर रहे हों तो समझदारी से खेलना होता है।

शॉर्टर फॉर्मेट में भी खुद को साबित करना चाहते हैं टेम्बा बावुमा

सही निर्णय लेने की जरूरत

हालांकि रवि शास्त्री ने पंत का बचाव भी किया। उन्होंने कहा कि ऋषभ पंत की योग्यता पर कोई सवाल नहीं उठा सकता। अगर वह शॉट सेलेक्शन सही कर ले तो उन्हें रोकना आसान नहीं होगा। उन्होंने कहा कि पंत को यह समझने में एक मैच या फिर चार मैच लग सकता है। वह आईपीएल में ढेर सारे मैच खेल चुका है। अब समय आ गया है कि वह जिम्मेदारी लें। वहीं टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि पंत से उन्हें सिर्फ एक चीज की उम्मीद है। वह यह कि मैच की परिस्थिति के अनुसार खेलें। वह यह कतई नहीं चाहते कि वह अपने हिसाब से खेलें।