स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पांच टी-20 मैचों की सीरीज में 2-0 से पीछे होने के बावजूद सीफर्ट ने नहीं छोड़ी है उम्मीद, कहा- वापसी करेंगे

Mazkoor Alam

Publish: Jan 27, 2020 17:11 PM | Updated: Jan 27, 2020 17:12 PM

Cricket

Tim Seifert ने भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि वह काफी मुश्किल गेंदबाज है।

हैमिल्टन : न्यूजीलैंड (New Zealand Cricket Team) के विकेटकीपर बल्लेबाज टिम सीफर्ट (Tim Seifert) ने कहा कि पहले दो मैच हारने के बाद अगर कीवी टीम को सीरीज में वापसी करनी है तो उसे टीम इंडिया (Team India) से सीखना होगा कि परिस्थितियों से कैसे सामंजस्य बैठाया जा सकता है। टीम इंडिया ने रविवार को ऑकलैंड में खेले गए दूसरे टी-20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में न्यूजीलैंड को सात विकेट से मात दी थी। पहले टी-20 में भी भारत ने जीत हासिल की थी। अब सीरीज में तीन मैच और बचे हैं। अगर न्यूजीलैंड को अपनी संभावना बचाए रखनी है तो यहां खेले जाने वाले तीसरे मैच में भारत को हराना ही होगा।

विकेट पर रुक कर आ रही थी गेंद

सीफर्ट ने कहा कि भारतीय बल्लेबाजों ने दिखाया कि ऐसे विकेट पर कैसे गेंद की लाइन में आकर सही टाइमिंग से उसे खेल दिखाना है। दूसरे मैच में 26 गेंदों पर नाबाद 33 रन की पारी खेलने वाले सीफर्ट ने कहा कि इस विकेट पर गेंद काफी रुककर आ रही थी। इस कारण बल्लेबाजी में मुश्किलें आ रही थी। उन्होंने कहा कि एक बल्लेबाज के रूप में कुछ अवसरों पर विकेट से हटकर यह देखना होता कि क्या गेंद सीधी लाइन पर आ रही है। वह विकेटों पर खड़ा रहने के बजाय कुछ अलग करने में यकीन रखते हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह भारतीय बल्लेबाज खेले धीमे विकेटों पर इसी तरह का खेल दिखाना होता है। गेंदबाजों लाइन बिगाड़ने की कोशिश करो। अच्छी गेंद पर भी शॉट लगाने के लिए सही स्थिति में आने की कोशिश करो। उन्होंने कहा कि टी-20 क्रिकेट में यह अहम होता है। भारतीय बल्लेबाजों ने ऐसा ही किया।

100 साल के हुए क्रिकेटर वसंत रायजी, सचिन और वॉ ने उनके साथ किया सेलिब्रेट, देखें वीडियो

बुमराह को बताया कठिन गेंदबाज

सीफर्ट ने कहा कि भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह विविधतापूर्ण गेंदबाजी को समझना मुश्किल काम है। बुमराह ने दूसरे मैच में चार ओवर के कोटे में 21 रन देकर एक विकेट लिया था। उन्होंने कहा कि बुमराह ने यहां काफी धीमी गेंदें की। पहले मैच में भी ऐसे गेंदे डाली थी। उन्होंने कहा कि डेथ ओवरों में अमूमन गेंदबाज सीधी लाइन पर गेंद करता है। इसके अलावा यॉर्कर डालता है। वहीं बुमराह अपनी गेंदों में काफी बदलाव करते हैं। उन्हें खेलना मुश्किल है।

अपने गेंदबाजों का किया बचाव

टिम सीफर्ट ने अपने गेंदबाजों का बचाव करते हुए कहा कि उन्होंने दोनों मैचों में अच्छी गेंदबाजी की। इसके बावजूद भारतीय बल्लेबाज उन पर हावी हो गए। ईमानदारी से कहूं तो पहले मैच में भारत का स्कोर एक विकेट पर 110 रन था। उनके पास विकेट बचे थे। हमने पहले मैच में खराब गेंदबाजी नहीं की थी। दूसरे मैच में हम सिर्फ 130 के आसपास का ही स्कोर खड़ा कर पाए। ईडन पार्क पर इतने कम लक्ष्य का बचाव करना काफी मुश्किल था।

भारत में टी-20 विश्व कप न खेलने की धमकी से पलटा पाकिस्तान, बोला- नहीं कहा ऐसा

सीरीज में वापसी की उम्मीद

न्यूजीलैंड के लिए बाकी के तीनों मैच करो या मरो के हैं। उन्हें सीरीज जीतनी है तो तीनों मैच जीतने होंगे। इसके बावजूद वह सीरीज में वापसी करने को लेकर आश्वस्त हैं। तीसरा मैच हैमिल्टन में बुधवार को खेला जाना है। यहीं अगले दो मैच होंगे, जबकि सीरीज का आखिरी मैच माउंट मौनगानुई में होगा। सीफर्ट ने कहा कि उनकी टीम 2019 की सीरीज की तरह खेलना चाहेगी जब हमने एक मैच हारने के बाद वापसी कर तीन मैचों की सीरीज 2-1 से जीती थी। उन्होंने कहा कि यह अलग बात है कि हमने दो मैच गंवा दिए हैं, लेकिन बुरा नहीं खेले हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि निश्चित तौर पर अपना सर्वश्रेष्ठ खेल नहीं दिखा पाए हैं, लेकिन इस सीरीज में भारत बहुत अच्छा खेला है। उन्होंने कहा कि अगर हम बुधवार को सीरीज गंवा देते हैं तो यही सब कुछ खत्म हो जाएगा, लेकिन अगर हम यहां जीत दर्ज करते हैं तो फिर चीजों को आगे लेकर जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि हमें इसे तीन मैचों की सीरीज की तरह लेना होगा, लेकिन हमें यह दिमाग में रखना होगा कि पहले दो मैच हर हाल में जीतने हैं।

[MORE_ADVERTISE1]