स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पाकिस्तानी टीम तरसेगी मिठाई और बिरयानी के लिए, कोच मिस्बाह ने बनाया नया डाइट प्लान

Kapil Tiwari

Publish: Sep 17, 2019 08:47 AM | Updated: Sep 17, 2019 08:56 AM

Cricket

वर्ल्ड कप 2019 में पाकिस्तानी टीम की फिटनेस को लेकर काफी आलोचना हुई थी।

नई दिल्ली। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए हमेशा से उसके खिलाड़ियों की फिटनेस एक बहुत बड़ी समस्या रही है, लेकिन अब टीम के नए कोच और मुख्य चयनकर्ता मिस्‍बाह उल हक (Misbah Ul Haq) ने इस समस्या को दूर करने का फैसला किया है। मिस्बाह उल हक पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी भी रही हैं। मिस्बाह ने पाकिस्तानी टीम के खिलाड़ियों की फिटनेस पर ध्यान देना शुरू कर दिया है। इसके लिए उन्होंने सबसे पहले खिलाड़ियों की डाइट में बदलाव किया है।

मिस्बाह बनाएंगे पाकिस्तानी टीम को फिट!

जानकारी के मुताबिक, मिस्बाह ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों के खाने-पीने पर काफी पाबंदियां लगा दी है। बताया जा रहा है कि कोच ने खिलाड़ियों को बिरयानी और मीठा खाने से साफ मना किया है। मिस्बाह का ये फैसला घरेलू टूर्नामेंट के ट्रेनिंग कैंपों में शामिल हुए नेशनल टीम के खिलाड़ियों की डाइट पर लागू हो गया है। मिस्‍बाह ने आदेश जारी किए हैं कि घरेलू सत्र के दौरान और राष्ट्रीय शिविर में खिलाड़ियों के लिए किसी भी तरह से हेवी डाइट का खाना उपलब्ध नहीं होगा। मिस्बाह ने लक्ष्य रखा है कि वो पाकिस्तानी टीम को सर्वश्रेष्ठ फिटनेस वाली टीम बनाएंगे।

pakistan_cricket_team.jpg

खिलाड़ियों को नहीं मिलेगी बिरयानी और मिठाई

मिस्बाह का ये फैसला पाकिस्तान में होने वाले घरेलू टूर्नामेंट कायदे आजम ट्रॉफी (Quaid E Azam Trophy) के मैचों में लागू हो गया है। खिलाड़ियों के डाइट प्लान को देख रही कंपनी के एक सदस्य ने कहा, ‘खिलाड़ियों को अब बिरयानी और तेल युक्त रेड मीट वाला भोजन या मिठाई नहीं परोसी जाएगी।’ मिस्बाह के फैसले के बाद खिलाड़ियों को सिर्फ भुना हुआ खाना और काफी सारी सब्जियों या फलों वाला पास्‍ता ही मिलेगा। नेशनल कैंप में भी इसी डाइट को लागू किया जाएगा।

 

pak.jpg

वर्ल्ड कप में पाकिस्तानी टीम की हुई थी काफी आलोचना

आपको बता दें कि वर्ल्ड कप 2019 में पाकिस्तानी टीम की फिटनेस को लेकर काफी फजीहत हुई थी। खासकर कप्तान सरफराज अहमद के मोटापे को लेकर उनकी काफी आलोचना की गई थी। सरफराज अहमद वर्ल्ड कप में भारत के खिलाफ मैच के दौरान उबासी लेते हुए नजर आए थे।

43 साल की उम्र तक मिस्बाह ने खेला क्रिकेट

आपको बता दें कि मिस्बाह उल हक ने पाकिस्तान के लिए 43 साल की उम्र तक क्रिकेट खेला है। इतना ही नहीं वो अभी 45 साल के हैं और इस उम्र में भी वो काफी फिट नजर आते हैं। पाकिस्तान में मिस्बाह को फिटनेस के लिए जाना जाता है। उनकी गिनती पाकिस्‍तान के सबसे सफल कप्‍तानों में होती है।