स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एक और बड़े रिकॉर्ड के करीब मयंक अग्रवाल, डॉन ब्रेडमैन की बराबरी का मौका

Mazkoor Alam

Publish: Nov 21, 2019 19:15 PM | Updated: Nov 21, 2019 19:16 PM

Cricket

अगर मयंक अग्रवाल ऐसा करने में कामयाब होते हैं तो 89 साल पहले किए गए सर डॉन ब्रेडमैन के कारनामे की बराबरी कर लेंगे।

कोलकाता : सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को टीम इंडिया में आए अभी एक साल भी नहीं हुए हैं, लेकिन इतने कम समय में ही उन्होंने कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए हैं और टीम इंडिया के स्थायी सदस्य बन गए हैं। वह जबरदस्त फॉर्म में हैं और एक और बड़े रिकॉर्ड की दहलीज पर हैं। अगर वह कोलकाता टेस्ट की पहली पारी में 142 रन बना लेते हैं तो वह 89 साल पुराने डॉन ब्रेडमैन के एक बड़े रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे।

युवराज सिंह ने किया भविष्य की योजना का खुलासा, कोच की भूमिका में आ सकते हैं नजर

महज आठ टेस्ट का है अनुभव

मयंक का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अनुभव महज आठ टेस्ट मैच का है। वह इतने मैचों की 12 पारियों में 71.50 के औसत से 858 रन अपने खाते में जमा कर चुके हैं। इस दौरान उन्होंने दो दोहरे शतक समेत कुल तीन शतक लगाए हैं। अब अगर वह कोलकाता टेस्ट की पहली पारी में 142 रन बना लेते हैं तो वह 13 टेस्ट पारियों में 1000 रन बनाने डॉन ब्रेडमैन के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे। ब्रैडमैन ने साल 1930 में 13 पारियों में टेस्ट क्रिकेट में 1000 रन बनाने का कारनामा किया था।

धोनी नहीं ले रहे हैं क्रिकेट से संन्यास, आईपीएल में खेलेंगे सीएसके की तरफ से

सबसे तेज हजार रन बनाने की टॉप-5 में एक भारतीय भी

वैसे सबसे कम पारियों में 1000 टेस्ट रन बनाने का रिकॉर्ड डॉन ब्रेडमैन के नाम नहीं है। उनके भी कम 12 पारियों में इंग्लैंड के एच. सटक्लिफ और वेस्टइंडीज के एवर्टन वीक्स यह कारनामा कर चुके हैं। सटक्लिफ ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मेलबर्न में 13 फरवरी 1925 को 12 पारियों में एक हजार रन बना लिए थे तो वीक्स ने 4 फरवरी 1949 को भारत के खिलाफ यह कारनामा किया था। इस सूची में सर डॉन ब्रैडमैन तीसरे स्थान पर हैं। जबकि ऑस्ट्रेलिया के ही आरएन हार्वे चौथे नंबर पर हैं। बता टॉप-5 की लिस्ट में भारतीय बल्लेबाज विनोद कांबली का भी नाम है। उन्होंने 18 नवंबर 1994 को मुंबई में विंडीज के खिलाफ 14 पारियों में टेस्ट क्रिकेट में अपने एक हजार रन पूरे कर लिए थे।

[MORE_ADVERTISE1]