स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मिथुन का अविश्वसनीय रिकॉर्ड, एक ओवर में लिए 5 विकेट, सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के फाइनल में कर्नाटक

Mazkoor Alam

Publish: Nov 29, 2019 17:50 PM | Updated: Nov 30, 2019 11:00 AM

Cricket

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के सेमीफाइनल में कर्नाटक ने हरियाणा को आठ विकेट से हराकर फाइनल में प्रवेश किया।

सूरत : गुजरात के सूरत शहर में चल रहे सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में कर्नाटक के गेंदबाज अभिमन्यु मिथुन ने एक ऐसा कारनामा किया है, जिस पर कोई भी विश्वास नहीं करेगा, लेकिन यह सौ फीसदी सच है। टीम इंडिया के लिए खेल चुके इस गेंदबाज ने हरियाणा के खिलाफ सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के सेमीफाइनल मैच में एक ओवर की छह गेंदों पर हैट्रिक सहित पांच विकेट लेकर अविश्वसनीय रिकॉर्ड बनाया है। मिथुन पहले ऐसे गेंदबाज हैं, जिन्होंने भारतीय घरेलू क्रिकेट के तीन सबसे बड़े टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी, विजय हजारे ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में हैट्रिक ली है।

इस सीजन में लिए दो हैट्रिक

अभिमन्यु मिथुन ने इस साल दो बार हैट्रिक लेने का कारनामा किया है। इस मैच में एक ओवर में हैट्रिक समेत पांच विकेट लेने से पहले वह विजय हजारे ट्रॉफी में तमिलनाडु के खिलाफ हैट्रिक ले चुके हैं, जबकि 2009 में उन्होंने रणजी ट्रॉफी में उत्तर प्रदेश के खिलाफ हैट्रिक दर्ज की थी। इस तरह यह अद्भुत कारनामा करने वाले वह इकलौते गेंदबाज बन गए हैं।

 

इस तरह लिए एक ओवर में पांच विकेट

हरियाणा की पारी के दौरान वह पारी का अंतिम ओवर लेकर आए। पहली ही गेंद पर अर्धशतक बनाकर खेल रहे हिमांशु राणा (61) को मयंक अग्रवाल के हाथों कैच आउट कराकर पैवेलियन भेजा। इसके बाद अगली गेंद पर राहुल तेवतिया (32) को भी करुण नायर के हाथों कैच कराया। तीसरी गेंद पर नए बल्लेबाज सुमित कुमार को रोहन कदम के हाथों शून्य पर कैच कराकर अपनी हैट्रिक पूरी की। इसके बाद भी वह रुके नहीं। चौथी गेंद पर हरियाणा के कप्तान अमित मिश्रा को कृष्णप्पा गौतम के हाथों कैच कराकर अपना चौथा विकेट लिया। इसके बाद एक गेंद वाइड फेंकी। पांचवीं गेंद पर एक रन दिया और ओवर की छठी गेंद पर केएल राहुल के हाथों शून्य जयंत यादव को आउट कर अपना पांचवां शिकार किया।

पहले के तीन ओवर में एक भी विकेट नहीं ले पाए थे

मिथुन को पहले के तीन ओवरों में एक भी विकेट नहीं मिला था। उनकी बॉलिंग का फिगर था तीन ओवर में बिना विकेट के 37 रन और जो आखिरी ओवर के बाद हो गया चार ओवर में 39 रन देकर पांच विकेट लिए। उनकी इस गेंदबाजी का ही नतीजा था कि 200 पार जाती हरियाणा की टीम आठ विकेट खोकर महज 194 रन ही बना सकी।

आठ विकेट से जीतकर फाइनल में कर्नाटक

इसके बाद कर्नाटक की टीम ने हरियाणा से जीत के लिए मिले 195 रनों के लक्ष्य को महज 15 ओवरों में हासिल कर फाइनल में प्रवेश किया। कर्नाटक की ओर से केएल राहुल (66), देवदत्त पल्लीकल (87) ने अर्धशतकीय पारी खेली। मयंक अग्रवाल ने एक बार फिर नाबाद 30 रनों की शानदार पारी खेली। उनके साथ कप्तान मनीष पांडेय तीन रन बनाकर नाबाद रहे।

टी-20 में एक ओवर में पांच विकेट लेने वाले पहले भारतीय

टी-20 मैच की एक ओवर में पांच विकेट लेने का कारनामा करने वाले वह पहले भारतीय गेंदबाज हैं। मिथुन के अलावा बांग्लादेश के अल अमीन हुसैन ने 2013 में यूसीबी-बीसीबी इलेवन बनाम अबहानी लिमिटेड टी-20 मैच में एक ओवर में पांच विकेट लिए थे।

आज मैच फिक्सिंग में आया है नाम

कर्नाटक प्रीमियर लीग में आज ही उनका नाम आया है। एसीबी ने उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया है। अगर वह संतुष्टीपूर्ण जवाब नहीं दे पाए तो उनकी गिरफ्तारी भी संभव है।

[MORE_ADVERTISE1]