स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

न्यूजीलैंड दौरे पर टेस्ट टीम में भी जगह नहीं बना पाएंगे हार्दिक, बीसीसीआई ने कहा फिट नहीं

Mazkoor Alam

Publish: Jan 22, 2020 16:04 PM | Updated: Jan 22, 2020 16:05 PM

Cricket

अब Hardik Pandya की पूरी उम्मीद आईपीएल से पहले होने वाले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू वनडे सीरीज पर है।

नई दिल्ली : फिटनेस टेस्‍ट में फेल होने के कारण पहले टी-20 और अब न्यूजीलैंड दौरे पर वनडे सीरीज के लिए भी टीम इंडिया (Team India) के दिग्गज हरफनमौला हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) को 15 सदस्यीय टीम में नहीं जगह दी गई। हालांकि हार्दिक पांड्या को उम्मीद है कि टेस्ट सीरीज में उन्हें मौका मिल जाएगा, लेकिन बीसीसीआई सूत्र ने स्पष्ट कर दिया है कि वह टेस्ट में वापसी नहीं कर पाएंगे।

ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ स्पोर्ट्स से सचिन तेंदुलकर और विश्वनाथ आनंद बाहर

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के मानक के अनुसार नहीं फिटनेस

बीसीसीआई सूत्र ने कहा कि हार्दिक पांड्या की फिटनेस अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए जरूरी मानकों पर खरा नहीं उतरा। इस कारण उन्हें टीम में जगह नहीं दी गई है। अब उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी के लिए पहले अपनी घरेलू टीम बड़ौदा की ओर से कम से कम एक घरेलू मैच खेलना होगा। इसके बाद ही दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली जाने वाली घरेलू वनडे सीरीज के लिए उनके नाम पर विचार किया जाएगा। न्यूजीलैंड दौरे पर तो उनके जाने की कोई संभावना नहीं है।

आईसीसी वनडे रैंकिंग में भारतीय खिलाड़ियों का दबदबा, गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों में शीर्ष पर

गेंदबाजी कार्यभार ने जुड़ा परीक्षण नहीं दिया

सूत्र ने बताया कि हार्दिक पांड्या ने गेंदबाजी कार्यभार से जुड़ा परीक्षण नहीं दिया था। चोट से वापसी करने वाले किसी क्रिकेटर के लिए इस परीक्षा में पास होना जरूरी होता है। हार्दिक के इस दावे पर कि वह न्यूजीलैंड दौरे के दूसरे हिस्से तक फिट हो जाएंगे, पर उन्होंने कहा कि यह उनका निजी अनुमान है। उन्होंने कहा कि हार्दिक को ऐसा लगा होगा कि वह फिट हो गया है। हार्दिक के निजी ट्रेनर एस रजनीकांत ने कहा था कि उनका यो-यो टेस्ट नहीं हुआ। इस पर उन्होंने कहा कि यह यो-यो टेस्ट नहीं, बल्कि गेंदबाजी फिटनेस के लिए वह कार्यभार परीक्षण था। इसमें वह विफल रहे। इसका सीधा अर्थ फिटनेस टेस्ट में विफल होना ही होता है।

[MORE_ADVERTISE1]