स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

14 साल पहले रिकी पॉन्टिंग के साथ हो गया था ये हादसा, मैदान पर खूब बहा था खून

Kapil Tiwari

Publish: Aug 19, 2019 13:17 PM | Updated: Aug 19, 2019 13:19 PM

Cricket

रिकी पॉन्टिंग के साथ ये हादसा साल 2005 में एशेज सीरीज के पहले मैच के दौरान हुआ था।

लंदन। एशेज सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच में जोफ्रा आर्चर की घातक गेंदबाजी ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी स्टीव स्मिथ को बुरी तरह से घायल कर दिया। आर्चर का एक तेज बाउंसर स्मिथ के बाएं कान के नीचे जाकर लगा और उसके बाद वो मैदान रिटायर्ड हर्ट होकर चले गए। इस घटना से क्रिकेट जगत सहम सा गया है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग को तो इस घटना के बाद अपना एक बुरा टाइम याद आ गया। दरअसल, साल 2005 में रिकी पॉन्टिंग भी एशेज सीरीजी के दौरान गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। मैदान पर पॉन्टिंग का काफी खून बहा था।

इंग्लैंड के जो डेनली ने पकड़ा अद्भुत कैच, मैदान पर खिलाड़ी और स्टेडियम में दर्शक रह गए भौंचक्का

Ricky Ponting

इंग्लैंड के इस गेंदबाज ने पॉन्टिंग को किया था घायल

रिकी पॉन्टिंग को ये हादसा 14 साल बाद फिर से याद आया है, जब उन्होंने स्टीव स्मिथ को लगी चोट के बारे में सुना और देखा। आपको बता दें कि 2005 में एशेज सीरीज इंग्लैंड में हुई थी और रिकी पॉन्टिंग उस वक्त ऑस्ट्रेलिया के कप्तान थे। ये हादसा सीरीज के पहले टेस्ट मैच के दौरान ही हुआ था। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टीव हर्मिसन मैच के शुरुआत से ही जबरदस्त गेंदबाजी कर रहे थे। उन्होंने पहले ही ओवर में जस्टिन लैंगर को भी घायल किया था। बाद में हर्मिसन की एक तेज बाउंसर पॉन्टिंग के हेलमेट पर जाकर लगी।

 

मैदान पर खून देख हर कोई सहम गया था

इस गेंद की स्पीड इतनी ज्यादा थी कि हेलमेट होने के बावजूद भी पॉन्टिंग के गाल पर गहरा कट लग गया है और टप-टप खून भी बहने लगे। ये नजारा देख मैदान पर हर कोई घबरा गया। सभी खिलाड़ी पॉन्टिंग के पास पहुंचे और उनका हाल जाना। मैच को काफी देर तक रोकना पड़ा। हालांकि इस चोट के लगने के बाद भी पॉन्टिंग ने बल्लेबाजी की, लेकिन वो ज्यादा लंबी पारी नहीं खेल सके। रिकी पॉन्टिंग सिर्फ 9 रन बनाकर हर्मिसन की ही गेंद पर आउट हो गए थे। इस मैच को पॉन्टिंग के साथ हुए इस हादसे की वजह से ही याद रखा जाता है।