स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यही है 'एशेज' सीरीज का रुतबा, एक क्रिकेट मैच पर प्रधानमंत्री तक को करनी पड़ी टिप्पणी

Manoj Sharma Sports

Publish: Aug 19, 2019 15:11 PM | Updated: Aug 19, 2019 15:15 PM

Cricket

दूसरे एशेज टेस्ट के दौरान लॉर्ड्स के फैंस ने स्टीव स्मिथ के चोटिल होने के बावजूद उनके खिलाफ जमकर हूटिंग की थी।

लंदन। एशेज सीरीज को क्रिकेट के सबसे प्रतिष्ठित और पुराने टूर्नामेंट्स में से एक माना जाता है। 138 साल पुरानी इस सीरीज को लेकर इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में कड़ी प्रतिस्पर्धा और कड़वाहट है जो समय के साथ बढ़ती ही जा रही है।

जब ये दोनों देश एशेज सीरीज खेल रहे होते हैं तो जंग केवल इन टीमों के बीच ही नहीं होती बल्कि आवाम और यहां तक की राजनीतिज्ञों तक के बीच में भी होती है।

इसी का ताजा उदाहरण देखने को मिला सोमवार को। ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मौरिसन ने एशेज सीरीज के दूसरे टेस्ट मैच में लॉर्ड्स के मैदान पर स्टीव स्मिथ के खिलाफ की गई हूटिंग की निंदा की है।

जोफ्रा आर्चर की गेंद पर घायल हुए स्टीव स्मिथ, मैदान छोड़कर जाने को हुए मजबूर

यह मैच बेनतीजा रहा जिसमें स्मिथ दूसरी पारी में चोट के कारण खेलने नहीं उतरे। स्मिथ को पहली पारी में जोफ्रा आर्चर की गेंद लग गई थी। तब वह रिटायर्ड हर्ट होकर बाहर चले गए थे। कुछ देर बाद वह लौट कर आए और 92 रनों के निजी स्कोर पर आउट हो गए।

स्मिथ जब मैदान छोड़कर जा रहे थे और जब मैदान में वापस आ रहे थे तब दर्शकदीर्घा में मौजूद एक समूह ने स्मिथ पर जमकर छींटाकशी की थी।

मौरिसन ने अपने फेसबुक पर लिखा, "दूसरा टेस्ट ड्रॉ रहा लेकिन लॉर्ड्स के दर्शकों ने स्टीव स्मिथ पर छींटाकशी कर एशेज को पूरी तरह से बदनाम कर दिया।"

यह भी पढ़ेंः एशेज सीरीज को लेकर सौरव गांगुली का महत्वपूर्ण बयान

उन्होंने लिखा, "उनकी टेस्ट क्रिकेट में जिस तरह की वापसी रही है उसके बाद वह इंग्लैंड में सिर्फ सम्मान के हकदार हैं। वह चैम्पियन हैं और इस तरह की चीजें उन्होंने अतीत में संभाली हैं। मुझे स्टीव स्मिथ पर गर्व है।"

प्रधानमंत्री ने आगे लिखा, "दर्शकों को स्मिथ से एक-दो चीजें सीख लेनी चाहिए। मुझे इंतजार है कि इसका जवाब वह अपने बल्ले और गेंद से देंगे और एशेज घर लेकर आएंगे।"

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाड़ियों ने भी इस घटना की निंदा की थी।