स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चित्तौड़गढ़ : CM की घोषणा, एनीकट में डूबे युवकों के परिवार को देंगे 4-4 लाख, युवकों के शव देखकर मंत्री भी नहीं रोक पाए अपने आंसू

rohit sharma

Publish: Aug 24, 2019 21:34 PM | Updated: Aug 24, 2019 21:34 PM

Chittorgarh

Youths Drown in anicut in Rajasthan : खबर Chittorgarh News से है। जिले में शनिवार को एनिकट में डूबने से तीन जिन्दगियां चली गई। CM Ashok Gehlot ने संवेदना व्यक्त करते हुए मृतकों के आश्रितों को Chief Minister's Disaster Fund से 4-4 लाख रूपए की सहायता देने की घोषणा की।

चित्तौड़गढ़. Youths Drown in anicut in Rajasthan : खबर चित्तौड़गढ़ जिले से है। जिले में शनिवार को Anicut में डूबने से तीन जिन्दगियां चली गई।

जानकारी के अनुसार सदर थाना चित्तौड़गढ़ क्षेत्र में धनेत गांव के जटिया मोहल्ले में रहने वाला पंकज (21) शनिवार को अपने दोस्त बालकृष्ण (22) के साथ शनिवार को दोपहर करीब बारह बजे धनेत गांव में स्कूल के निकट एनिकट में नहाने गया था। इस दौरान सबसे पहले पंकज ने नहाने के लिए एनिकट में छलांग लगाई तो वह डूबने लगा। उसे बचाने के लिए वहां खड़े बालकिशन ने भी एनिकट में छलांग लगाई तो वह भी डूबने लगा।

गांव के दोनों युवकों को डूबते देख वहां कपड़े धो रहा दाता चौराहा धनेत निवासी शिवान (20) उन्हें बचाने के लिए एनिकट में कूदा तो वह भी डूब गया। तीनों युवकों को डूबते देखकर वहां मौजूद राकेश दौड़कर गांव में गया और लोगों को तीनों के डूबने की सूचना दी। सूचना पर बड़ी संख्या में गांव के लोग एनिकट की तरफ दौड़ पड़े।

जानकारी मिलते ही पुलिस ( Police ) व सिविल डिफेंस ( Civil Defense ) तथा पुलिस की एसडीआरएफ ( SDRF ) की टीम मौके पर पहुंची और डूबे युवकों की एनिकट में तलाश शुरू की। सिविल डिफेंस की टीम ने एक घंटे की कड़ी मशक्क्त के बाद तीनों युवकों के शव एनिकट से निकाले। इस दौरान मौके पर ही शवों के पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिए गए।

 

आश्रितों को चार-चार लाख की सहायता

सूचना पर सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ( Udai lal Anjana ), सांसद सीपी जोशी ( CP Joshi ), विधायक चन्द्रभानसिंह आक्या मौके पर पहुंचे। मंत्री आंजना ने मौके पर ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( CM Ashok Gehlot ) को हादसे की जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने संवेदना व्यक्त करते हुए मृतकों के आश्रितों को मुख्यमंत्री आपदा कोष (Chief Minister's Disaster Fund) से चार-चार लाख रूपए की सहायता देने की घोषणा की।

धनेत में शोक की लहर व रूदन एनिकट में तीन युवकों की डूबने से मौत होने के बाद जैसे ही शव एनिकट से बाहर निकाले गए। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। पूरे गांव में शोक की लहर छा गई। परिजनों के रूदन के साथ ही धनेत गांव के लोग भी आंसू नहीं रोक पाए।

 

और रो पड़े मंत्री आंजना

सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना एनिकट से उस स्थान पर पहुंचे, जहां तीनों युवकों के शव रखे हुए थे। युवकों के शव देखकर आंजना भी अपने आंसू नहीं रोक पाए। रूमाल से आंसू पोंछकर उन्होंने खुद को संभाला।

 

बहुत ज्यादा है पानी का फ्लो

धनेत एनिकट में जिस जगह युवक डूबे थे, वहां पानी का फ्लो बहुत ज्यादा था। घोसुण्डा बांध से इस एनिकट में पानी की आवक हो रही थी। हालत यह थी कि खुद गौताखोरों को भी यहां रस्से बंधवाकर एनिकट में उतरना पड़ा था। एनिकट में छलांग लगाने से पहले इन युवकों ने पानी के तेज बहाव की तरफ भी ध्यान नहीं दिया।

 

अच्छे तैराक थे तीनों

युवक जानकारी में सामने आया है कि एनिकट में डूबे पंकज, बालकिशन और शिवान अच्छे तैराक थे और अक्सर नहाने के लिए एनिकट पर आते रहते थे, लेकिन शनिवार को पानी ही तीनों के लिए काल बन गया।