स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मुसाफिर क्यों हुए बेहाल, ट्र्रेनों के किस लिए बदले रूट

Nilesh Kumar Kathed

Publish: Jan 26, 2020 00:18 AM | Updated: Jan 26, 2020 00:18 AM

Chittorgarh


गंगरार-सोनियाणा के मध्य मालगाड़ी पटरी से उतरी
चित्तौडग़ढ़ स्टेशन पर यात्री करते रहे ट्रेनों का इंतजार


चित्तौडग़ढ़. जिले के गंगरार एवं सोनियाणा के बीच में शनिवार को करीब पौने चार बजे मुख्य रेलवे लाइन पर भीलवाड़ा की ओर से आ रही एक मालगाड़ी के दो पहिए पटरी से उतर गए। जिससे रेलवे यातायात अवरूद्ध हो गया। जिसके चलते कई यात्री गाडिय़ों का रूट बदल दिया गया। देर रात तक चित्तौडग़ढ़ भीलवाड़ा रेलेव मार्ग बहाल नहीं हो सका। जिसके चलते कई यात्री गाडिय़ों को चित्तौडग़ढ़ एवं भीलवाड़ा रेलवे स्टेशन पर ही रोक लिया गया। घंटों तक रेलवे स्टेशन बैठकर यात्री अपनी गाड़ी के आने एवं जाने का इंतजार करते रहे।
शनिवार को एक मालगाड़ी भीलवाड़ा से चितौडग़ढ़ की ओर सीमेन्ट लदान के लिए आ रही एक मालगाड़ी के दो डिब्बे अचानक अपरान्ह ३ बजे के करीब तकनीकी कारणों से पटरी स उतर गये। डिब्बों के उतरने की सूचना के साथ ही रेलवे प्रशासन में हड़कम्प मच गया। सोनियाणा स्टेशन प्रबंधक ने तुरंत इसकी सूचना रेलवे के उच्च अधिकारियों को दी। सूचना के साथ ही रेलवे के चितौडग़ढ़ ,नीमच,तथा अन्य स्थानों से यांत्रिकी ट्रेन के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और राहत कार्य में जुट गये। इस मार्ग पर आने जाने वाली ट्रेनों को चित्तौडग़ढ़, भीलवाड़ा, नीमच आदि स्टेशनों पर रोक दिया गया। रेलवे के सूत्रों के अनुसार जहां पर चित्तौडग़ढ़-हरिद्वार यात्री गाड़ी को करीब पांच घंटे देरी से रात नो आठ बजे बाद वाया कोटा जयपुर होकर रवाना किया गया। वहीं चेतक एक्सप्रेस को भी अपने निर्धारित समय ये करीब चार घंटे देरी से रवाना किया गया। वहीं जयपुर से आने वाली इंटरसिटी को अजमेर में ही निरस्त कर दिया गया। वहीं उदयपुर जयपुर वाया चंदेरिया को भी चंदेरिया स्टेशन पर निरस्त कर दिया गया। वहीं जोधपुर से इंदौर जाने वाली गाड़ी को भीलवाड़ा में रोका जबकि इंदौर से बीकानेर यात्री गाड़ी को नीमच में ही रोका गया।
यात्रियों को लौटाई किराया राशि
चित्तौडग़ढ़ रेलवे स्टेशन के वाणिज्यक पर्यवेक्षक एन.के.जोशी ने बताया कि उदयपुर हरिद्वार को रूट बदलने के कारण भीलवाड़ा अजमेर एवं फुलेरा आदि जगहों पर जाने वाले करीब १०० से अधिक यात्रियों को रिफण्ड दिया गया। इसके लिए दो विंडो अलग से खुलवाये गए। वहीं उदयपुर से जयपुर जाने वाले यात्रियों को चंदेरिया में शत प्रतिशत रिफण्ड किया गया। वहीं जयपुर जाने वाले यात्रियों के लिए हरद्विार में जाने की भी व्यवस्था की गई।

[MORE_ADVERTISE1]