स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रैलनी के लिए गंभीरी बांध से 15 से छोड़ा जाएगा पानी

kalulal lohar

Publish: Oct 21, 2019 23:02 PM | Updated: Oct 21, 2019 23:02 PM

Chittorgarh

किसानों को खेतों में रैलनी के लिए गंभीर बांध से १५ नवम्बर से नहरों में पानी छोडऩे जाएगा। यह निर्णय सोमवार को सिंचाई निरीक्षण गृह स्टेशन रोड पर आयोजित जल वितरण समिति की बैठक में लिया गया। बैठक में शुरुआत समय में तीन नहरें खोलने खोलने के लिए सहमति बनी है

चित्तौडग़ढ़. किसानों को खेतों में रैलनी के लिए गंभीर बांध से १५ नवम्बर से नहरों में पानी छोडऩे जाएगा। यह निर्णय सोमवार को सिंचाई निरीक्षण गृह स्टेशन रोड पर आयोजित जल वितरण समिति की बैठक में लिया गया। बैठक में शुरुआत समय में तीन नहरें खोलने खोलने के लिए सहमति बनी है। इस बार बांध के पूरा भर जाने से चौथी नहर भी छोड़ी जा सकती है। इसके लिए किसानों की समिति बनाई गई। यह समिति बांध में उपलब्ध पानी और सिंचाई की जरुरत के आधार पर निर्णय करेगी। बैठक में चित्तौडग़ढ़ जल संसाधन खंड अधिशाषी अभियंता ब्रह्मपालङ्क्षसह, कनिष्ठ अभियंता राजेश चौधरी सहित जल वितरण समिति के सदस्य व किसान मौजूद थे।
सफाई के बाद 10 से खोली जाएगी नहर
आकोला. बडग़ांव बांध पर नहर खोलने को लेकर विभाग व किसानों की बैठक हुई।बैठक में चित्तौडग़ढ़ अतिरिक्त जिला कलेक्टर मुकेश कलाल, भूपालसागर तहसीलदार मदन सिंह सहित कई अधिकारी मौजूद रहे । इस दौरान किसानों ने पूरी सफाई के बाद ही नहने खोलने की मांग की।
जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने 10 नवम्बर तक का नहर की सफाई हो जाने की बात कही, उसके बाद सर्व सहमति से 10 नवम्बर को नहर खोलने का निर्णय लिया गया । किसानों ने एडीएम को बडग़ाँव बांध की पाल पर बड़े-बड़े बबुल व झाडिय़ों दिखाते हुए रोष जताया। बडग़ांव बांध से उदयपुर व चित्तौडग़ढ जिलें कि हजारों बीघा जमीन में सिंचाई होगी। खेतो के रैलनी के लिए नहर 20 दिन तक खुली रहेगी उसके बाद 15 दिन बंद रख दूसरे चरण में फिर १5 दिन के लिए पहली पिलाई के लिए नहर खोली जाएगी। एडीएम ने बडग़ाँव बांध निरीक्षण गृह को भी देखा। देखरेख के अभाव में ये खण्डहर में तब्दील हो रहे है।