स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ये कांटों का ताज है संभल कर चलना होगा

Jitender Saran

Publish: Dec 09, 2019 11:52 AM | Updated: Dec 09, 2019 11:52 AM

Chittorgarh

नगर परिषद सभापति का पद कांटों का ताज है। यहां पर संभलकर चलना होगा और शहर की जनता की उम्मीदों पर भी खरा उतरना होगा। कांग्रेस की जीत तो तब होगी जब पांच साल बाद भी जनता हम पर फूल बरसाए। इसके लिए हम सब को मिलकर जमकर विकास के काम करने होंगे। यह बात पूर्व विधायक सुरेन्द्र सिंह जाड़ावत ने यहां पर नगर परिषद सभापति संदीप शर्मा एवं उप सभापति कैलाश पंवार के पदभार ग्रहण करने के बाद आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए कही।

चित्तौडग़ढ़.
जाड़ावत ने कहा कि जनता ने एक बार फिर कांग्रेस पर भरोसा किया है। इसके लिए सभी पार्षदों, सभापति व उप सभापति को कंधे से कंधा मिलाकर शहर का विकास करना होगा। उन्होंने सभापति को यह भी नसीहत दी कि जनता सब याद रखती है, इसलिए कोई भी ऐसा काम मत करना कि उसका खमियाजा उठाना पड़े। हमें सेवक बनकर काम करना है और कोई भी गरीब आ जाए तो उसका काम पहले करना होगा। चाहे कुछ भी हो लेकिन परिषद में आने वाले को इस बात का अहसास होना चाहिए कि उसकी समस्या का समाधान होगा।
उन्होंने कहा कि यह बोर्ड जनता के विश्वास पर खरा उतरने का पूरा प्रयास करेगा। पार्षद गण जनता से संपर्क बनाएं और उनकी समस्याओं को सुनकर निस्तारण करने का प्रयास करें। उन्होंने नगर परिषद सभापति से कहा कि नगर परिषद में गरीबों का कार्य सबसे पहले होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने आठ करोड़ रूपए दिए, जिससे शहर की सड़कोंं की हालत सुधारी गई। उन्होंने कहा कि शहर को नया रूप देने का प्रयास किया जाएगा। मेडिकल कॉलेज के बाद अब शहर के युवाओं के लिए भी सरकार से सौगात मांगी जाएगी। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि अब पंचायत चुनाव में भी कंधे से कंधा मिलाकर कांग्रेस को जिताने का प्रयास करें।
पूर्व विधायक प्रकाश चौधरी ने कहा कि परिषद तो जनता ने हमारे झोली में डाल दी है अब सब को मिलकर पंचायत चुनाव में भी इसी तरह की मेहनत करनी होगी। विकास के लिए कड़ी से कड़ी जुड़ेगी तब ही जिले का विकास पूरी तरह से होगा। नगर कांग्रेस अध्यक्ष प्रेम चंद मूंदड़ा ने कहा कि जनता ने कांग्रेस पर विश्वास किया है। हमें भी जनता के विश्वास पर खरा उतरना पड़ेगा। उन्होंने सभापति एवं उपसभापति से कहा कि आमजन एवं संगठन को पूरा सम्मान मिले इस तरह की व्यवस्था को अपनाया जाना चाहिए। समारोह को जिला कांगे्रस अध्यक्ष मांगीलाल धाकड़, उप सभापति कैलाश पंवार आदि ने भी सम्बोधित किया। संचालन पार्षद सुमन्त सुहालका ने किया। समारोह को जिला कांगे्रस अध्यक्ष मांगीलाल धाकड़, कपासन से कांग्रेस प्रत्याशी रहे आनंदीराम खटीक एवं अन्य जनप्रतिनिधियों ने भी संबोधित किया। समारोह में कपासन के प्रधान भैरूलाल चौधरी, निंबाहेड़ा नगरपालिका के अध्यक्ष सुभाष शारदा, बड़ीसादड़ी नगर पालिका अध्यक्ष दिलीप चौधरी, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष आनंद कंवर सांदू, पूर्व सभापति गीतादेवी योगी, त्रिलोकचंद जाट, पूर्व पालिकाध्यक्ष रमेश नाथ योगी, पूर्व प्रधान पुष्पाजाट, राजेश्वरी मीणा, प्रदेश युवक कांग्रेस के वरिष्ठ महासचिव अभिमन्युसिंह जाड़ावत, नगर परिषद के नवनिर्वाचित पार्षद बालमुकन्द मालीवाल, विजय चौहान, कन्हैयालाल माली आदि मौजूद थे।
गलती हो तो कान खींच लेना
सभापति संदीप शर्मा ने कहा कि मुझे डेढ़ माह का जो अल्प समय मिला उसमें जनता की समस्याओं का समाधान करने का प्रयास किया। अब यही प्रयास होगा कि जनसमस्याओं का हल कर सकूं। उन्होंने मंचासीन अतिथियों से कहा कि आप सब हमारे मार्ग दर्शक हैं। अगर कहीं भी गलती करूं तो कान खींच लेना। अगर हम पर कोई दाग लगा तो २४ घंटे में इस्तीफा दे देंगे। उन्होंने कहा कि शहर के विकास में किसी प्रकार की कमी नहीं आने दी जाएगी। बोर्ड बैठक में शहर के विकास का तकमीना तैयार किया जाएगा। चित्तौड़ शहर को क्लीन चित्तौड़ और ग्रीन चित्तौड़ बनाने का प्रयास किया जाएगा। हमारा यह प्रयास रहेगा कि यह यादगार बोर्ड बने।
कहां है वो पांच सौ का स्टाम्प
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य एवं कपासन से कांग्रेस प्रत्याशी रहे आनन्दीराम खटीक ने कहा कि यह मंच राजनीतिक बातों का नहीं है लेकिन कुछ बातें है जो करनी जरूरी है। उन्होंने कहा कि जो विपक्ष के विधायक चुनाव पूर्व कह रहे थे कि नगर परिषद में बोर्ड हमारा बनेगा भले ही पांच सौ रुपए के स्टाम्प पर लिखवाकर ले लें। अब कहां है वो स्टाम्प। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से पंचायत चुनाव में एक जुटता दिखाने का आह्वान किया।
आयुक्त को भी चेताया
जाड़ावत ने जहां संदीप शार्मा को अपने उद्बोधन में परिषद में आने वालों का सम्मान करने की बात कर चेताया वहीं आयुक्त दुर्गा कुमारी से भी कह दिया कि परिषद में आने वाले पार्षदों एवं जनप्रतिनिधियों का पूरा सम्मान होना चाहिए।
नहीं बने कोई पावर सेन्टर
जाड़ावत ने कहा कि ऐसा नहीं हो कि परिषद में दो तीन पावर सेंटर बन जाए। इससे व्यवस्था से नुकसान ही होगा। इसलिए इस बात का पूरा ध्यान रखें कि किसी के बहकावे में नहीं आएं।
पदभार ग्रहण समारोह में हुई कइयों की जेब तराशी
नगर परिषद में शर्मा व पंवार के कार्यभार ग्रहण करने के दौरान जेब तराश भी सक्रिय रहे। भीड़ का फायदा उठाते हुए जेब तराश पवन मेड़तवाल की जेब से करीब सात हजार रूपए की नकदी व तीन ग्राम सोना तथा सेवानिवृत बैंक कर्मी मेहता की जेब से दस हजार रूपए पर हाथ साफ कर गए। कई लोगों की जेब से पांच सौ व हजार रूपए तक की नकदी साफ हो गई।
संभाली नगर परिषद की कमान
शहर की निर्वाचित सरकार यानी नगर परिषद में सभापति व उप सभापति ने रविवार को विधि-विधान पूर्वक कार्यभार संभाल लिया। सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना, पूर्व विधायक सुरेन्द्रसिंह जाड़ावत, प्रकाश चौधरी, कांग्रेस जिलाध्यक्ष मांगीलाल धाकड़ सहित पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में रविवार दोपहर करीब सवा बारह बजे सभापति संदीप शर्मा व उप सभापति कैलाश पंवार ने विधिवत रूप से कार्य भार संभाल लिया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की और एक-दूसरे का मुंह मीठा करवाकर खुशी का इजहार किया।
इसके बाद नगर परिषद परिसर से जुलूस रवाना हुआ। पूर्व विधायक जाड़ावत, कांग्रेस जिलाध्यक्ष मांगीलाल धाकड़, सभापति शर्मा व उप सभापति पंवार खुली जीप में सवार होकर लोगों का अभिवादन स्वीकार करते रहे। जुलूस में शामिल वाहनों के काफिले में कांग्रेस पार्षद व कार्यकर्ता सवार थे। कलक्ट्रेट चौराहे पर जमकर आतिशबाजी व नारेबाजी की गई। बाद में जुलूस सेतु मार्ग स्थित मुख्य समारोह स्थल पर पहुंचा।
पायलट की तस्वीर से परहेज
नगर परिषद में रविवार को सभापति व उप सभापति के पद भार ग्रहण कार्यक्रम को लेकर सभापति के कक्ष में रंग-रोगन के बाद पुरानी तस्वीरों को हटाकर नई तस्वीरें लगा दी गई। जिला कांग्रेस भले ही कांग्रेस में एकजुटता के दावे कर रही हो, लेकिन सभापति के कक्ष में लगाई गई नेताओं की तस्वीरों में से उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट की तस्वीर नदारद दिखी। सभापति कक्ष में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, स्वायत शासन मंत्री शांति धारीवाल, सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना व पूर्व विधायक सुरेन्द्रसिंह जाड़ावत की तस्वीर लगाई गई, लेकिन इन तस्वीरों के बीच उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट की तस्वीर नदारद रहना खुद कांग्रेसजन में ही चर्चा का विषय बनी रही।

[MORE_ADVERTISE1]