स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अमरीकियों से ऑनलाइन ठगी के मुख्य आरोपी ने किया आत्मसमर्पण

Jitender Saran

Publish: Jan 22, 2020 22:30 PM | Updated: Jan 22, 2020 21:06 PM

Chittorgarh

महाराणा प्रताप सेतु मार्ग पर एक डेंटल क्लिनिक के ऊपर तीसरी मंजिल पर फर्जी कॉल सेंटर चलाकर ऑनलाइन ठगी करने के मामले में मुख्य आरोपी व कॉल सेंटर के संचालक ने बुधवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया, जिसे बाद में कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में पांच आरोपी पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं। आरोपी अमरीका की Óलेंडिंग क्लबÓ नामक संस्था के कर्मचारी बनकर काम कर रहे थे।

चित्तौडग़ढ़.
कोतवाली पुलिस ने पांच सितंबर २०१९ को इस कॉल सेंटर पर छापा मारकर पांच युवकों को गिरफ्तार किया था, लेकिन संचालक वहां नहीं मिला। पूछताछ में खुलासा हुआ था कि सभी युवा 15 से 20 हजार के मासिक वेतन पर पिछले कुछ दिनों पूर्व ही गुजरात व मध्यप्रदेश से यहां काम के लिए लाए गए थे। सभी की उम्र 20 से 32 साल करीब थी। संचालक इन्हें अंग्रेजी भाषा की स्क्रिप्ट व मैसेज तैयार करा कर अमरीकियों को फंसा कर प्रतिदिन डॉलर में कमाई कर रहा था। संचालक एक Óमोबाइल एपÓ के माध्यम से आईडी बनाकर कार्य करने वाले युवकों से मोबाइल के जरिए अमरीकियों को ऋण मुहैया कराने का मैसेज भेजते थे। इनमें से कुछ ऋण के लालच में आकर आरोपियों को फोन करते थे तब यह युवक उनकी कॉल को संचालक को फॉरवर्ड कर देते थे। फॉरवर्ड कॉल से संचालक अमरीकी अंग्रेजी भाषा में ऋण की राशि देने के लिए राजी कर स्वीकृत राशि का कुछ हिस्सा उनके खाते में जमा करवा देता था। उनका खाता चेक करने के लिए उन्हें वॉलमार्ट गिफ्ट कार्ड बनवा उस कार्ड के नंबर व पिन नंबर उनसे ले लिया करता था। जिससे उनके बैंक खातों में जमा सारी राशि अपने खातों में ट्रांसफर कर लेता था।
संचालक ने किया सरेण्डर
संचालक रज्जा हाउस अम्बेडकर रोड़ जाम जोधपुर जिला जाम नगर गुजरात निवासी उस्मान खां पठान पुत्र अब्दुल गनी पठान ने बुधवार को चित्तौडग़ढ़ पहुंचकर यहां मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। जिसे बाद में कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।
खुद के नाम भी विदेशी रखे थे
आरोपी बीएससी व बीकॉम पढ़े लिखे थे एवं अच्छी अंग्रेजी बोलते थे। संचालक द्वारा उपलब्ध स्क्रिप्ट को कंप्यूटर स्क्रीन पर खोलकर अंग्रेजी में बोल कर अमरीकियों से ठगी कर रहे थे। ठगी करने के लिए कॉल सेंटर में कार्य कर रहे युवकों ने अमरीकियों की तरह ही अपने नाम रखे हुए थे। इन्होंने जस्टिन व्हाइट,जैक गेट्स, सेम विल्सन, पीटर आदि नाम रख रखे थे।
ये आरोपी पहले हो चुके गिरफ्तार
इस मामले में पुलिस हाथीजन सर्कल थाना शमोल अहमदाबाद निवासी 26 वर्षीय पुनीत एच प्रसाद पुत्र हनुमान प्रसाद जैन, छतरपुर मध्य प्रदेश निवासी 24 वर्षीय श्रीवत्स देवम अर्जरिया पुत्र अनिल अर्जरिया, वटवा जिला अहमदाबाद निवासी 20 वर्षीय नीतीश तेली पुत्र बलराम साहू, कुंभा नगर मस्जिद के पास चित्तौडग़ढ़ निवासी 23 वर्षीय अमानत उर्फ बंटी पुत्र अयूब खान पठान एवं सज्जन नगर थाना अंबामाता उदयपुर निवासी 32 वर्षीय शाकिर हुसैन पुत्र सखावत हुसैन को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

[MORE_ADVERTISE1]