स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

किस शहर की सड़कों पर चलना जरा संभल कर

Nilesh Kumar Kathed

Publish: Aug 21, 2019 23:22 PM | Updated: Aug 21, 2019 23:22 PM

Chittorgarh


बारिश ने खोल दी चित्तौडग़ढ़ शहर में सड़कों की गुणवत्ता की पोल
सड़के बदहाल होने से चलना हुुआ मुश्किल
वाहन चालक प्रतिदिन हो रहे परेशान


चित्तौडग़ढ़. चित्तौडग़ढ़ जिले में मानसून की भाारी बारिश तो थम गई पर पीछे सरकारी लापरवाही के कारण अपने निशान छोड़ गई। पहले ही उखड़ी पड़ी शहर की सड़कों की हालत इस बारिश के बाद और अधिक बदतर हो गई है। हालात ये हो गए है कि शहर के प्रमुख मार्गो की सड़कों पर चलना भी चुनौती बन गया है तो अंदरूनी मार्गो व ग्रामीण क्षेत्र की सड़कों की स्थिति की सहज ही कल्पना की जा सकती है। गत दिनों हुई तेज बारिश के बाद चित्तौड़ शहर के सुभाष चौक, मीरा मॉर्केट, प्रतापनगर, नेहरू बाजार, बूंदी रोड, मीरा मंच रोड, राणा सांगा बाजार, महाराणा प्रताप सेतु मार्ग आदि सभी मार्गो की दशा बदतर हो गई है। कई मार्गो पर सड़कों की गिट्टी पूरी तरह उखड़ जाने से राहगीरों के साथ वाहनचालकों के लिए भी चलना कठिन हो गया है। कई सड़के गड्ढो में तब्दील हो जाने से हर पल ऐसे मार्गो पर दुर्घटनाओं का डर सताता रहता है। इन मार्गो से प्रतिदिन अधिकारियों के साथ जनप्रतिनिधि भी गुजरते है लेकिन अब तक किसी ने लोगों की पीड़ा कम करने का ठोस प्रयास नहीं किया है।

सीवरेज के कारण उखड़ी सड़कों की भी मरम्मत नहीं
बारिश ने तो शहर की सड़कोंं की दशा बिगाड़ी उससे पहले सीवरेज कार्य के कारण भी सड़के क्षतिग्रस्त है। मानसून आगमन से पहले ऐसी सड़कों की भी मरम्मत नहीं कराने से अब लोगों के लिए मुश्किले अधिक बढ़ गई है। कई जगह गड्ढो के कारण बारिश का पानी भी अब तक नहीं सूख पाया है।

बेसमेंटों में भर गया पानी
तेज बारिश के कारण शहर के कई बाजारों में बनी दुकानों के बेसमेंटों में आया पानी अब तक नहीं खत्म हो पाया है। इनमें जो पानी भर गया उसे मोटर लगाकर निकाला जा रहा है इसके बावजूद भूमिगत जलस्तर बढऩे से कई जगह पानी का आंना जारी रहने से मुश्किले बढ़ गई है।