स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अबकी बार दशहरा मेले का लुत्फ नहीं उठा पाएंगे शहरवासी

Jitender Saran

Publish: Sep 21, 2019 23:30 PM | Updated: Sep 21, 2019 21:48 PM

Chittorgarh

नगर परिषद चित्तौडग़ढ़ में टेण्डर प्रक्रिया पूरी नहीं होने के चलते इस बार शहरवासी दशहरा मेले का लुत्फ नहीं उठा पाएंगे। हालाकि रावण पुतला दहन कार्यक्रम पूरी भव्यता के साथ आयोजित किया जाएगा।

चित्तौडग़ढ़
नगर परिषद चित्तौडग़ढ़ में टेण्डर प्रक्रिया पूरी नहीं होने के चलते इस बार शहरवासी दशहरा मेले का लुत्फ नहीं उठा पाएंगे। हालाकि रावण पुतला दहन कार्यक्रम पूरी भव्यता के साथ आयोजित किया जाएगा।
यहां सेंती स्थित एक होटल में नगर परिषद सभापति संदीप शर्मा ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि तामीर स्वीकृति के लिए अब लोगों को नगर परिषद के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। इस संबंध में अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देश दे दिए गए हैं। समस्याओं को लेकर शहरवासियों से सुझाव लिए गए है। पिछले पौने पांच साल में किसी ने सड़कों की सुध नहीं ली, इसलिए सड़कोंं की दुर्दशा हुई है। छह करोड़ रूपए के टेण्डर कर दिए हैं। दीपावली तक सड़कें ठीक हो जाएगी। डामर रोड़ नवीनीकरण के लिए तीन करोड़ व मरम्मत के लिए दो करोड़ के टेण्डर प्रोसेस कर दिए हैं।जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग से पाइप लाइन डालने के दौरान क्षतिग्रस्त हुई सड़कों के लिए १.१० करोड़ रूपए लेने हैं। बारिश से सड़कों को जो नुकसान हुआ है, उसके लिए साढे पांच करोड़ के प्रस्ताव सरकार को भेजे हैं। सीवरेज लाइन डालने के दौरान क्षतिग्रस्त हुई मोक्षधाम से राणा सांगा बाजार तक की सड़क ठीक करने का काम शुरू हो गया है। बूंदी रोड़ व दुर्ग मार्ग की सड़कें भी ठीक करवा दी जाएगी। ड्यूटी पर जैकेट पहनकर नहीं आने वाले सफाईकर्मियों की अनुपस्थिति दर्ज की जाएगी। पिछले पौने पांच साल में नालों की सफाई नहीं करवाई गई, इस समस्या का भी समाधान किया जाएगा।
सभापति ने कहा कि नवरात्रि, दशहरा व दीपावली पर शहर में विशेष सफाई अभियान चलाया जाएगा। दशहरा मेले के आयोजन के सवाल पर सभापति ने कहा कि न तो टेण्डर हुआ है और न ही दशहरा मेले को लेकर कोई तैयारियां की गई है। मेले में होने वाले कार्यक्रमों के लिए टेण्डर या प्रस्ताव लेना जरूरी होता है, इसके लिए नियमानुसार १५ से २१ दिन का समय देना होता है, ऐसे में दशहरा मेले का आयोजन इस बार संभव नहीं हो पा रहा है। लेकिन रावण के पुतला दहन व आतिशबाजी कार्यक्रम पूरी भव्यता के साथ किया जाएगा। पुतले जलने में अधिक समय लगे, ऐसी व्यवस्था की जाएगी। उद्यानों के विकास के लिए सात लाख रूपए के टेण्डर निकाले गए हैं।
विधायक का बयान हास्यास्पद
सभापति ने विधायक चन्द्रभानसिंह के उस बयान को हास्यास्पद करार दिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि सभी साठ वार्डों में भाजपा के पार्षद निर्वाचित होंगे और बोर्ड भाजपा का बनेगा। सभापति ने कहा कि यह अधिकार तो जनता का है। पांच साल पहले जनता ने भाजपा को ४५ में से ३३ पार्षद दिए, लेकिन क्या हश्र हुआ, किसी से छिपा नहीं है। रिवर फ्रंट योजना कागजों में दफन होकर रह गई।
जाड़ावत बोले, जनता दें नगर परिषद, हम करेंगे शहर का विकास
पूर्व विधायक सुरेन्द्र सिंह जाड़ावत ने शहर की जनता से अपील की कि वह नगर परिषद में कांग्रेस का बोर्ड बनाए। इसके बदले हम शहर का विकास करेंगे। लोगों की समस्याओं के निराकरण में भागीदार बनेंगे। उन्होंने फिर कहा कि सभापति व उप सभापति का निलंबन राजनीतिक द्वेषता से नहीं हुआ, बल्कि सात माह तक विभिन्न प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद सरकार ने यह कार्रवाई की है।
पुराने भवन में संचालित करेंगे मेडिकल कॉलेज
जाड़ावत ने कहा कि मेडिकल कॉलेज को केन्द्र सरकार से मंजूरी मिलने के बाद नया भवन बनने तक इसका संचालन महिला एवं बाल चिकित्सालय के पुराने भवन में करने की व्यवस्था की जाएगी।