स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

फर्जी फौजी ने कार बेचने के नाम पर मजदूर से एक लाख रूपए ठगे

Jitender Saran

Publish: Oct 23, 2019 12:17 PM | Updated: Oct 23, 2019 12:17 PM

Chittorgarh

फेसबुक पर बिक्री के लिए डाले गए एक कार का फोटो देखकर झांसे में आए मजदूर से 1 लाख 50हजार 246 रूपए की ठगी हो गई। इस संबंध में सदर थाने में प्रकरण दर्ज कराया गया है।

चित्तौडग़ढ़
नागौर में कुम्हारों का मोहल्ला सिंघीपुरा निवासी और हाल यहां डगला का खेड़ा में फर्नीचर का काम कर रहे कानाराम पुत्र स्व. चतराराम ने सदर थाने में दी रिपोर्ट में बताया कि दस अक्टूबर को उसने फेसबुक पर एक कार देखी थी, जो बिकाऊ थी। उसने यह कार खरीदने की इच्छा होने से संबंधित नंबर पर बात की, जिसने खुद को सीआइएसएफ का रणवीरसिंह होना बताया। उसने कानाराम को कहा कि यह कार आर्मी एयरपोर्ट में है, वहां से इसे निकालने के लिए ५१५० रूपए खाते में जमा करवाने होंगे। कानाराम ने झांसे में आकर युवक के बताए खाता नंबर में राशि जमा करवा दी। बाद में दूसरे नंबर से उसके पास फोन आया, जिसने खुद को आर्मी एयरपोर्ट ड्राइवर अंकित चौधरी होना बताया। उसने कानाराम से कहा कि वह रणवीरसिंह की कार लेकर आया है और अभी भीलवाड़ा पहुंचा है। साहब का आदेश है कि तुम १९ हजार ९९९ रूपए और खाते में जमा करवाओ। इस तरह से प्रार्थी से कुल १ लाख ५ हजार २४६ रूपए खाते में जमा करवा कर ठगी कर ली गई और बाद में दोनों मोबाइल बंद हो गए। सदर थाना पुलिस ने ऑन लाइन ठगी का मामला दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया है।