स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भाजपा नेताओं ने राज्य सरकार को किस लिए किया कटघरे में खड़ा

Nilesh Kumar Kathed

Publish: Aug 23, 2019 23:19 PM | Updated: Aug 23, 2019 23:19 PM

Chittorgarh


ज्ञापन में लगाया आरोप अपराधों पर लगाम लगाने में विफल हो रही सरकार
भाजपा ने किया राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन


चित्तौडग़ढ़. राज्य सरकार पर कानून व्यवस्था बनाए रखने में विफलता का आरोप लगाते हुए भाजपा शुक्रवार को सड़क पर उतरी एवं चित्तौडग़ढ़ कलक्ट्रेट में प्रदर्शन किया गया। भाजपा नेताओं एवं जनप्रतिनिधियों ने राज्यपाल के नाम ज्ञापन अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रशासन मुकेश कलाल को दिया। ज्ञापन में आरोप लगाया गया कि पिछले आठ माह में राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति निरन्तर बिगड़ रही है। दलित व महिला वर्ग एवं बच्चों के साथ अपराध की घटनाएं बढऩा सरकार की विफलता का परिचायक है। बलात्कार, लूट, हत्या जैसे संगीन अपराधों में निरन्तर बढ़ोतरी से आमजन में असुरक्षा का भाव पनप रहा है। ज्ञापन में ऐसे वर्गो के साथ होने वाली घटनाओं का फास्टट्रेक कोर्ट में सुनवाई करते हुए तीन माह में निपटारा करने एवं थानागाजी घटना के समान ही पीडि़तों को समान रूप से क्षतिपूर्ति राशि व सरकारी नौकरी देने की मांग की गई। ज्ञापन देने वालों में सांसद सीपी जोशी, भाजपा जिलाध्यक्ष रतनलाल गाडरी, विधायक चन्द्रभानसिंह आक्या, ललित ओस्तवाल, अर्जुनलाल जीनगर, पूर्व विधायक अशोक नवलखा, बद्रीलाल जाट, नगर परिषद सभापति सुशील शर्मा, निम्बाहेड़ा नगरपालिका अध्यक्ष कन्हैयालाल पंचोली, भाजपा युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष हर्षवर्धनसिंह रूद, नगर अध्यक्ष नरेन्द्र पोखरना सहित कर्ई जनप्रतिनिधि व पार्टी पदाधिकारी शामिल थे।
प्रदर्शनकारियों से ज्यादा खड़े कर दिए पुलिसवाले
भाजपा के प्रदर्शन के दौरान कलक्ट्रेट में सुरक्षा के कड़े प्रबन्ध किए गए। चैनल गेट से अधिक कार्यकर्ता अंदर प्रवेश नहीं कर जाए इसके लिए वहां भारी पुलिस बल तैनात किया गया। प्रदर्शनकारियों से अधिक संख्या पुलिसकर्मियों की दिखना चर्चा में रहा। भाजपा नेताओं ने कलक्ट्रेट के अंदर जाने की बजाय बाहर बुला एडीएम प्रशासन को ज्ञापन सौंपा।