स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अभी तक हाथ नहीं आया 6 लाख का इनामी डकैल, कोशिश में लगी पुलिस

Akansha Singh

Publish: Jun 24, 2019 13:56 PM | Updated: Jun 24, 2019 13:56 PM

Chitrakoot

गुर्गे पकड़कर छाती पीट रही खाकी सरगना की परछाई भी न छू सकी

चित्रकूट. पाठा के बीहड़ों में पिछले कई वर्षों से दहशत की इबारत लिख कानून के लिए चुनौती बने साढ़े 6 लाख के इनामी कुख्यात दस्यु सरगना बबुली कोल की परछाई तक अभी पुलिस की पकड़ से दूर है लेकिन उसके गुर्गों को पकड़कर खाकी छाती पीट रही है। गुर्गों को गिरफ़्तार कर जहां गैंग की कमर तोड़ने की बात की जा रही है वहीं गैंग का सरगना बबुली अपनी ताकत बढ़ाने का हर सम्भव प्रयास कर रहा है। लाख जतन के बावजूद आज तक डाकुओं के सरदार की लोकेशन ट्रेस नहीं हो पाई है।


पकड़ा गया 5 हजार का हार्डकोर मेम्बर
बबुली गैंग की तलाश बीहड़ों जगंलों की खाक छान रही पुलिस ने गैंग के हार्डकोर मेम्बर 5 हजार के इनामी डकैत देशराज कोल को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। गिरफ्त में चढ़े डाकू के पास से तमंचा व दर्जन भर से अधिक कारतूस बरामद हुए हैं। बताया जा रहा है कि दस्यु देशराज कोल अपने सरगना बबुली कोल के निर्देश पर गैंग के अन्य सदस्यों को कारतूस पहुंचाने जा रहा था कि मारकुंडी थाना क्षेत्र के जंगल में पुलिस ने उसे धर दबोचा। पुलिस की पूछताछ में गैंग को लेकर कई अहम जानकारियां मिली हैं लेकिन बबुली की लोकेशन ट्रेस करने में खाकी बैकफुट पर ही नजर आ रही है। दस्यु देशराज कोल पर हत्या मारपीट मुठभेड़ डकैती जैसे गम्भीर मामलों को लेकर आधा दर्जन से अधिक मुकदमें दर्ज हैं।


बबुली के खात्मे को लेकर नहीं कोई सटीक रणनीति
एक तरफ जहां प्रदेश में खतरनाक अपराधियों का इनकाउंटर हो रहा है वहीं सूबे के सबसे बड़े डकैत कुख्यात बबुली कोल के खात्मे की कोई सटीक रणनीति पुलिस के पिटारे में नहीं है। कई मुठभेड़ों के बाद भी आज तक दस्यु सरगना खाकी की संगीनों के साए में नहीं आ सका है। हालांकि पुलिस के उच्चाधिकारियों का यही कहना है कि पुलिस अपना काम कर रही है उम्मीद है कि जल्द सफलता मिलेगी।