स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दुष्कर्म आरोपी पीसीएस अफसर चल रहा था फरार, हुआ निलम्बित

Akansha Singh

Publish: Sep 19, 2019 14:31 PM | Updated: Sep 19, 2019 14:31 PM

Chitrakoot

दुष्कर्म आरोपी पीसीएस अफसर चल रहा था फरार हुआ निलम्बित अब होगी कुर्की की कार्रवाई

 

चित्रकूट. दुष्कर्म का आरोप झेल रहे पीसीएस अफसर को शासन ने निलंबित कर दिया। अब उसके घर पर कुर्की की कार्रवाई की नोटिस चस्पा कर दी गई है। आरोपी अफसर पर झांसी की एक युवती ने छेड़छाड़ व दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए झांसी के नवाबाद थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी। इस प्रकरण के बाद उक्त पीसीएस अफसर जो उस दौरान जनपद में एसडीएम के पद पर तैनात था फरार चल रहा था। विगत 13 सितम्बर को सीएम योगी आदित्यनाथ के जनपद दौरे के बाद आरोपी अफसर को शासन ने निलम्बित कर दिया गया।

 

ये है पूरा मामला

 

जनपद के मऊ तहसील में एसडीएम के पद पर तैनात रहे व बाद में मुख्यालय अटैच किए गए पीसीएस रैंक के अफसर पर इसी वर्ष (2019) जनवरी माह में बीटीसी की एक छात्रा ने अपने साथ छेड़छाड़ व दुष्कर्म का आरोप लगाकर सनसनी फ़ैला दी थी। युवती का आरोप था कि उसके घर आने जाने के दौरान अफसर ने उसे अपने प्रेम जाल में फंसाकर ऊंचे ऊंचे सब्ज़बाग दिखाए और कई बार शारीरिक सम्बन्ध स्थापित किया। इसके बाद अफसर द्वारा उसका उत्पीड़न शुरू कर दिया गया। हालांकि इस मामले के बाद आरोपी अफसर की पत्नी ने भी युवती के खिलाफ ब्लैकमेल व पति के खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज करने का मामला दर्ज कराया था

 

कई दिनों से गैर हाजिर अफसर निलम्बित नोटिस चस्पा

 

मामले के बाद हड़कम्प मचने पर आरोपी अफसर कई महीनों से गैर हाजिर चल रहा था। विगत 13 सितम्बर को सीएम योगी के दो दिवसीय जनपद दौरे के बाद उसे शासन ने निलम्बित कर दिया। अब झांसी पुलिस ने अफसर के चित्रकूट व आगरा स्थित आवास पर धारा-82 के तहत न्यायालय द्वारा कुर्की की कार्रवाई के आदेश की नोटिस चस्पा की है। जिलाधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने बताया कि शासन ने आरोपी अफसर को निलम्बित कर दिया है उनके खिलाफ एक युवती द्वारा गम्भीर आरोप लगाए गए हैं। वहीं इस पूरे मामले को लेकर झांसी के पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह ने बताया कि आरोपी अफसर के घर पर कुर्की की नोटिस चस्पा की गई है और आरोपी की तलाश में पुलिस की कई टीमें जालौन झांसी चित्रकूट लखनऊ व आगरा तक भेजी गई हैं।