स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

झूठ बोल रही मध्य प्रदेश की पुलिस, बबुली कौल को मैंने मारा : सोहन कौल

Akansha Singh

Publish: Sep 20, 2019 12:21 PM | Updated: Sep 20, 2019 12:21 PM

Chitrakoot

कुख्यात बबुली कोल की मर्डर मिस्ट्री, गैंग के मुख्य शूटर ने किया सनसनीखेज खुलासा पुलिस भी हैरान

चित्रकूट. यूपी एमपी के बीहड़ों में आतंक का पैगाम लेकर पिछले कई वर्षों से दहशत की इबारत लिखने वाले साढ़े 6 लाख के इनामी दस्यु सरगना बबुली कोल की मौत के बाद एक से एक चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। गैंगवार व पुलिस मुठभेड़ के बीच उलझ गई है आतंक के अंत की कहानी। इसी हफ्ते सोमवार की सुबह कुख्यात डकैत बबुली व उसके साथी लवलेश कोल को मुठभेड़ में मार गिराने के मध्य प्रदेश पुलिस के दावे के इतर गैंग के हार्डकोर मेंबर ने खुलासा किया कि उसने बबुली व लवलेश को मौत के घाट उतारा है। कल गुरुवार को यूपी पुलिस द्वारा मुठभेड़ में गिरफ़्तार गैंग के मुख्य शूटर के इस खुलासे ने चर्चाओं का बाजार गर्म कर दिया है।

मुख्य शूटर ने कहा" मैंने मारा बबुली व लवलेश को"

खूंखार दस्यु सरगना की गैंग के मुख्य शूटर सोहन कोल ने ये कहकर सनसनी फ़ैला दी कि उसने सरगना बबुली व उसके दाहिने हांथ लवलेश कोल को गोली मार मौत की नींद सुला दी है। सोहन कोल पर एक लाख का इनाम घोषित था यूपी पुलिस द्वारा जिसे कल गुरुवार को चित्रकूट के मानिकपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत कल्याणपुर जंगल से मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया गया पुलिस के मुताबिक। सोहन कोल के मुताबिक फिरौती की रकम के बंटवारे व बबुली द्वारा उसका उत्पीड़न करने की वजह को लेकर उसने अपने साथियों लाले कोल संजय कोल व छोटवा कोल के साथ बबुली व लवलेश को गोली मारी और फरार हो गए।

तो मध्य प्रदेश पुलिस के दावे में कितना दम?

इधर बबुली व लवलेश को मुठभेड़ में ढेर करने का दावा करने वाली मध्य प्रदेश पुलिस भी डकैत के इनकाउंटर को लेकर अब फ्रंट फुट पर आ गई है। हालांकि उसके दावे पर बीहड़ से लेकर पुलिस सूत्रों तक चर्चाओं का बाजार गर्म है। एमपी पुलिस का कहना है कि बबुली व लवलेश को मुठभेड़ में ही मारा गया है। यूपी पुलिस द्वारा पकड़ा गया डकैत झूठ बोल रहा है। जबकि गैंग में शामिल रहे डकैत लाले कोल की मां ने भी यही दावा किया था कि उसके बेटे व गैंग के अन्य सदस्यों ने बबुली व लवलेश की हत्या की और फरार हो गए। सूत्रों के मुताबिक लाले ने एमपी पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है।

गैंग के घातक खतरनाक हथियार व कारतूस बरामद

इधर बबुली गैंग के हार्डकोर मेंबर सोहन कोल की गिरफ्तारी व घातक हथियारों व कारतूस की बरामदगी के बाद यूपी पुलिस को भी अपनी पीठ थपथपाने का मौका मिल गया है। मीडिया से रूबरू होते हुए डीआईजी रेंज चित्रकूटधाम दीपक कुमार ने कहा कि गिरफ्तार डकैत को रिमांड पर लेकर और पूछताछ की जाएगी। दस्यु बबुली व लवलेश की मौत के बारे में जो एमपी पुलिस बता रही है वही वो भी जानते हैं।

कहीं पूरा ब्लू प्रिंट यूपी एसटीएफ का तो नहीं?

बीहड़ से ददुआ ठोकिया जैसे कुख्यात दस्यु सरगनाओं का खात्मा करने वाली यूपी एसटीएफ इस बार चूक गई ऐसा बीहड़ के सूत्रों के हवाले से छनती हुई खबर चर्चा का विषय बनी हुई है। सूत्रों के मुताबिक बबुली व लवलेश को यूपी एसटीएफ ने गैंग में मौजूद अपने मुखबिर से ठिकाने लगवाया लेकिन एन वक्त पर एसटीएफ की किस्मत दगा दे गई और ये पूरा खेल एमपी पुलिस ने ट्रेस कर लिया और बाजी उसके हांथ लग गई। हालांकि अभी गैंग के कुछ अन्य सदस्यों के भी सामने आने की चर्चा है जो कई खुलासे करेंगे। यदि दस्यु इतिहास की बात करें तो हमेशा से यूपी एसटीएफ को गैंग के ही किसी मेंबर को अपना मुखबिर बनाना और फिर गैंग को ठिकाने लगाना इसमें सफलता मिली है। मुखबिर भी एसटीएफ पर विश्वास करते हैं।


बरामद असलहे व कारतूस

बबुली गैंग के मुख्य शूटर बताए जा रहे सोहन कोल के पास से 2 स्प्रिंग फील्ड रायफल सेमी ऑटोमेटिक, एक 315 बोर रायफल फैक्ट्री मेड, विभिन्न बोर के 100 जिंदा कारतूस, 6 चार्जर थर्टी स्प्रिंग फील्ड रायफल बरामद हुए हैं।


ददुआ ठोकिया बलखड़िया से होते हुए बबुली तक पहुंचे खतरनाक असलहे

बरामद घातक असलहे दस्यु ददुआ ठोकिया बलखड़िया से होते हुए दस्यु बबुली तक पहुंचे थे। बबुली इन सभी कुख्यात डकैतों का शागिर्द रह चुका था और इनके खात्में के बाद उसने खुद गैंग की कमान संभाल ली थी और आतंक की दास्तां लिख दी बीहड़ में। पुलिस के मुताबिक गैंग की फायर पावर अब खत्म हो गई है।