स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बबुली गैंग का एक और कुख्यात गिरफ़्तार, मध्य प्रदेश पुलिस ने किया एक और दावा

Ruchi Sharma

Publish: Sep 22, 2019 13:53 PM | Updated: Sep 22, 2019 13:53 PM

Chitrakoot

बबुली गैंग का एक और कुख्यात गिरफ़्तार, मध्य प्रदेश पुलिस ने किया एक और दावा

चित्रकूट. साढ़े 6 लाख के इनामी दस्यु सरगना बबुली कोल की मौत गैंगवार में हुई या पुलिस मुठभेड़ में इसको लेकर जहां बीहड़ में चर्चाओं का बाजार गर्म है वहीं गैंग के हार्डकोर मेंबर एक एक कर पुलिस की गिरफ़्त में आ रहे हैं। गुरुवार को यूपी पुलिस द्वारा गैंग के एक लाख के इनामी दस्यु सोहन कोल की गिरफ़्तारी के बाद अब एमपी पुलिस ने बबुली गैंग के उस डकैत लाले कोल उर्फ़ लाली कोल को मुठभेड़ में गिरफ़्तार करने का दावा किया है, जो सरगना बबुली की मौत के बाद सुर्ख़ियों में था।

सुर्ख़ियों में इसलिए था लाले कोल

इसी माह 16 सितम्बर 2019 को जब यूपी से सटे एमपी के लेदरी जंगल में कुख्यात बबुली कोल व उसके दाहिने हाथ लवलेश कोल की गोलियों से छलनी लाश पाई गई थी तो डकैत लाले कोल ही सबसे पहले चर्चा में आया कि उसने ही बबुली व लवलेश की गोली मारकर हत्या कर दी गैंगवार के दौरान। इसके बाद लाले कोल की मां का भी एक बयान आया कि उसके बेटे ने अपने साथियों के साथ बबुली व लवलेश की हत्या कर दी और अब वह पुलिस के सामने समर्पण करेगा. बीहड़ के सूत्रों के मुताबिक भी यही खबर थी कि लाले कोल एमपी पुलिस की कस्टडी में है.

एमपी पुलिस का कुछ और ही दावा

इसके इतर मध्य प्रदेश पुलिस ने शनिवार को डकैत लाले कोल को मुठभेड़ में गिरफ़्तार करने का दावा कर उसे मीडिया के सामने पेश किया. पुलिस के मुताबिक जिस लेदरी जंगल में दस्यु बबुली कोल से उसकी(एमपी पुलिस की) मुठभेड़ हुई थी वहीँ से इस कुख्यात डकैत को उस समय गिरफ़्तार किया गया जब बबुली गैंग के अन्य साथियों की तलाश में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा था. सतना एसपी रियाज इकबाल के मुताबिक एमपी पुलिस की बबुली से हुई मुठभेड़ के दौरान लाले कोल मौक़ा पाकर भाग निकला था। डकैत लाले कोल को कोर्ट में पेश कर दो दिन की रिमांड मांगी जाएगी।

बदले नज़र आए एमपी पुलिस के सुर मुठभेड़ का किया दावा

गुरुवार को यूपी पुलिस द्वारा गैंग के मुख्य शूटर बताए गए हार्डकोर मेंबर एक लाख के इनामी सोहन कोल को मय हथियार गिरफ़्तार करने के बाद एमपी पुलिस ने शनिवार को अचानक गैंग के कुख्यात लाले कोल को पेश कर दिया। इस दौरान जब पूछा गया कि यूपी पुलिस की गिरफ्त में आए सोहन कोल ने दावा कि उसने ही बबुली व लवलेश को गोली मार मौत के घाट उतारा है गैंगवार के दौरान तो एमपी पुलिस ने इसे सिरे से खारिज करते हुए कहा कि सोहन कोल झूठ बोल रहा है।

एमपी पुलिस से मुठभेड़ के दौरान ही दस्यु सरगना बबुली व लवलेश मारे गए हैं। हालांकि यूपी पुलिस ने गैंग के खतरनाक हथियारों को बरामद कर गैंग की फायर पावर खत्म कर बड़ी सफलता हांसिल की है। दोनों राज्यों की पुलिस ने कई बार डकैतों के खिलाफ संयुक्त अभियान चलाया है। और आगे भी यही प्रयास होगा कि बीहड़ में कोई नया गैंग अब न पनपने पाए. बचे हुए डाकू गौरी यादव व साधना गैंग के खिलाफ भी अभियान चल रहा है।