स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस 6 लाख के ईनामी डकैत ने मध्य प्रदेश सरकार में मचाया हड़कंप, ऐसा करके सीएम कमलनाथ की उड़ाई नींद

Nitin Srivastva

Publish: Sep 12, 2019 10:08 AM | Updated: Sep 12, 2019 10:08 AM

Chitrakoot

- 6 लाख के इनामी डकैत बबुली कोल (Dacoit Babuli Kol) ने गर्माई एमपी की राजनीति (MP Politics)

- सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) ने डकैतों के खिलाफ कड़े एक्शन के दिये निर्देश

- पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj SIngh Chauhan) ने भी साधा कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) पर निशाना

 

चित्रकूट. यूं तो वह यूपी का मोस्टवांटेड डकैत (Most wanted robbery) है। इनाम है 6 लाख। उसपर हत्या, अपहरण, लूट और पुलिस मुठभेड़ जैसी संगीन वारदातों के कई अनगिनत मुदकमे हैं। खौफ का दूसरा नाम जिसकी आहट से ही बीहड़ों की सांसे कांपने लगती हैं। ऐसे कुख्यात डकैत बबुली कोल (Dacoit Babuli Col) ने दो राज्यों (यूपी और एमपी) की पुलिस की नींद उड़ा रखी है। तो वहीँ मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ (Madhya Pradesh CM Kamalnath) भी सकते में हैं। कारण इस खूंखार डकैत की बेखौफ होकर वारदात को अंजाम देने की फितरत। ऐसी ही एक वारदात को लेकर सीएम कमलनाथ ने ट्वीट (CM Kamalnath Tweet) करते हुए अपनी पुलिस को जल्द से जल्द वारदात के खुलासे और डकैतों के खिलाफ एक्शन का निर्देश दिया है।


किसान के अपहरण से सकते में सीएम

दस्यु सरगना बबुली कोल (Babuli Kol) द्वारा बीते शनिवार देर रात किसान अवधेश द्विवेदी का अपहरण कर 50 लाख की फिरौती मांगने की घटना ने मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) सरकार को बेचैन कर दिया है। सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath Twitter) ने ट्वीट करते हुए पुलिस को जल्द से जल्द किसान को रिहा कराते हुए डकैतों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। इस घटना के बाद विपक्षी पार्टियों के निशाने पर प्रदेश की कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) कानून व्यवस्था (Law and Order) को लेकर निशाने पर है।

इस 6 लाख के ईनामी डकैत ने गर्माई मध्य प्रदेश की राजनीति, सीएम कमलनाथ की उड़ाई नींद

यूपी की सीमा से हुआ अपहरण

यूपी की सीमा से सटे मध्य प्रदेश के सतना जनपद के धारकुंडी थाना क्षेत्र अंतर्गत हरसेडा गांव के किसान अवधेश द्विवेदी को बीते शनिवार को देर रात डकैतों ने अगवा कर लिया और उनके परिजनों से 50 लाख की फिरौती मांगी। किसान का अपहरण उस समय किया गया जब वो अपने घर में सो रहे थे। बताया गया कि पुलिस की वर्दी में आए डकैतों (Dacoit) ने वारदात को अंजाम दिया।


हलकान है दो राज्यों की पुलिस

किसान की सकुशल वापसी और डकैतों की लोकेशन ट्रेस करने के लिए यूपी व एमपी की पुलिस लगातार बीहड़ों जंगलों की खाक छान रही है। सूत्रों के मुताबिक दस्यु गिरोह ने फिरौती की रकम 50 लाख से घटाकर 10 लाख करने की बात कही है और रूपये न देने पर बुरा अंजाम भुगतने की धमकी भी दी है। दूसरी तरफ पुलिस का कहना है कि उसके बढ़ते दबाव के कारण डकैत लगातार अपनी लोकेशन बदल रहे हैं उम्मीद है कि किसान को जल्द रिहा करा लिया जाएगा।


पूर्व सीएम शिवराज (Former CM Shivraj Singh Chauhan) ने सरकार को घेरा

इधर अपहरण की वारदात के बाद मध्य प्रदेश की राजनीति गर्मा गई है। पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने सत्तासीन कांग्रेस सरकार व सीएम कमलनाथ को घेरते हुए कहा है कि राज्य में एक बार फिर अपहरण एक उद्योग बन गया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ (Chief Minister Kamal Nath) जमीनी कार्रवाई नहीं करते केवल ट्वीट कर देते हैं। शिवराज ने कानून व्यवस्था के मुद्दे पर कांग्रेस सरकार को लपेटे में लेते हुए कहा है कि भाजपा सरकार में पूरे प्रदेश से डकैतों का सफाया कर दिया गया था। क्या कारण है कि कांग्रेस की सरकार आते ही अपहरणकर्ताओं अपराधियों का नेटवर्क पनपने लगा। बहरहाल डकैत बबुली कोल (Dacoit Babuli Kol) इस समय यूपी के साथ एमपी की राजनीति में भी चर्चा में आ गया है।