स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

फिरौती की रकम को लेकर भयंकर गैंगवार, इस खुंखार डकैत को गोलियों से भूना, 6 लाख का था ईनामी

Nitin Srivastva

Publish: Sep 16, 2019 09:51 AM | Updated: Sep 16, 2019 09:51 AM

Chitrakoot

- डकैत बबुली कोल (Babuli Kol) सहित दो डकैत इस गैंगवार में मारे गए- सूत्र

- उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) पुलिस (Police) के लिए सिरदर्द बबुली कोल (Dacoit Babuli Kol)

- बबुली कोल (Dacoit Lale Kol) को मारने के बाद डकैत लाले कोल (Lale Kol) ने पुलिस के सामने सरेंडर भी कर दिया

चित्रकूट. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) पुलिस (Police) के लिए बीते कई सालों से सिरदर्द बने कुख्यात डकैत बबुली कोल (Dacoit Babuli Kol) के गैंगवार (Gangwar) में मारे जाने की जानकारी सामने आ रही है। सूत्रों की अगर मानें तो 6 लाख का इमामी डकैत बबुली कोल (Babuli Kol Death) गैंगवार (Gangwar) में मारा गया है। जानकारी के मुताबिक 8 सितंबर को हरसेड गांव से किसान अवधेश के अपहरण के बाद उसने फिरौती वसूली थी। फिरौती की वसूल की गई रकम के बंटवारे को लेकर ही डकैतों के बीच में विवाद हुआ। इस विवाद में गैंग के सदस्य डकैत लाले कोल (Dacoit Lale Kol) ने सरगना बबुली कोल (Babuli Kol) को गोली मारी है। खबरों के मुताबिक बबुली कोल (Babuli Kol) सहित दो डकैत इस गैंगवार में मारे गए हैं।


बबुली कोल को मारने के बाद किया सरेंडर

सूत्रों के मुताबिक बबुली कोल (Dacoit Lale Kol) को मारने के बाद डकैत लाले कोल (Lale Kol) ने पुलिस के सामने सरेंडर भी कर दिया है। डकैतों के बीच आपसी गैंगवार की यह घटना मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सीमावर्ती सेमरी के जंगल में हुई। जिसके बाद दोनों राज्‍यों की पुलिस ने दूसरे डकैतों की तलाश में भी अभियान छेड़ दिया है। हालांकि डकैत बबुली कोल (Dacoit Babuli Kol) के मारे जाने की अभी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। डकैत बबुली कोल (Dacoit Babuli Kol Death) के मारे जाने को लेकर पत्रिका के चित्रकूट संवाददाता विवेक मिश्रा लगातार पुलिस अधिकारियों से सम्पर्क करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उनसे बात नहीं हो पा रही है।


कई बार बबुली कोल और यूपी पुलिस आई आमने-सामने

आपको बता दें कि डकैत बबुली कोल (Dacoit Babuli Kol) और यूपी पुलिस (UP Police) के बीच कई बार आमना-सामना हुआ, लेकिन पुलिस को v तो उसे पकड़ने में सफलता हासिल हुई और न ही पुलिस उसे मार ही सकी। यही नहीं एक एनकाउंटर में तो पुलिस का एक दरोगा भी शहीद हो गया था, लेकिन बबुली कोल (Babuli Col) हाथ नहीं लगा। चित्रकूट इलाके में डकैत बबुली कोल (Dacoit Babuli Kol) का काफी आतंक था।


बबुली कोल (Babuli Kol) पुलिस को कई बार दे चुका था चकमा

साल 2018 की फरवरी में चित्रकूट में डकैत बबुली (Babuli Kol) से जंगलों में पुलिस की मुठभेड़ हुई थी। मारकुंडी थाना क्षेत्र के बंदरचुआ के बड़े जंगल में पुलिस के कॉम्बिंग (Police Combing Operation) के दौरान यह एनकाउंटर हुआ था। दोनों तरफ से आधे घंटे तक फायरिंग होती रही थी, लेकिन बाद में पता चला कि एनकाउंटर में बबुली कोल (Babuli Kol) चित्रकूट पुलिस (Chitrakoot Police) को एक बार फिर चकमा देकर फरार हो गया। एनकाउंटर के बाद पुलिस ने एक राइफल, तीन कारतूस, एक मोबाइल सहित कई चीजें बरामद की थीं।

यह भी पढ़ें: 3800 वाले होटल के कमरे का किराया हुआ 63 हजार, ऑनलाइन सभी होटलों की बुकिंग बंद, नहीं बचे रूम