स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अन्य मुख्यमंत्रियों से निकले आगे सीएम योगी, बुन्देलखण्ड को लगा गए सपनों का पंख, कर दिया ये बड़ा ऐलान

Neeraj Patel

Publish: Sep 14, 2019 14:26 PM | Updated: Sep 14, 2019 14:26 PM

Chitrakoot

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ हमेशा से राजनीति का ट्रम्प कार्ड रहे बुन्देलखण्ड को सपनों का पंख लगा गए।

चित्रकूट. यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ हमेशा से राजनीति का ट्रम्प कार्ड रहे बुन्देलखण्ड को सपनों का पंख लगा गए। साथ ही विपक्षियों पर जमकर निशाना भी साधा। करोड़ों, अरबों (181.37) की योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास कर भाजपा सरकार को बुंदेलों का मसीहा साबित करने का प्रयास किया तो वहीं पिछली सरकारों पर बुन्देलखण्ड के साथ सौतेला व्यवहार करने का आरोप भी लगाया। पलायन, बेरोजगारी अन्ना प्रथा जैसी बुन्देलखण्ड की नासूर बन चुकी समस्या पर मरहम लगाते हुए सीएम ने वादों का पिटारा खोल दिया।

बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस वे डिफेंस कॉरिडोर से बदलेगी किस्मत

भगवान राम की तपोभूमि में अपने दो दिवसीय दौरे के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुन्देलखण्ड को सतरंगी सपनों के महल दिखाए और प्रदेश तथा केंद्र सरकार की कई योजनाओं का हवाला देते हुए बुन्देलखण्ड को विकास के पायदान पर खड़ा करने की प्रतिज्ञा की। दशकों से पलायन व बेरोजगारी के डंक से घायल बुन्देलखण्ड को रोजगार का सपना दिखाते हुए सीएम योगी ने यकीन दिलाया कि प्रस्तावित बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे व कॉरिडोर से यहां की किस्मत बदल जाएगी। विकास के नए आयाम लिखें जाएंगे। जल्द ही पीएम मोदी इन दोनों महत्वाकांक्षी परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे। इनकी स्थापना के बाद बुन्देलखण्ड के युवकन को रोजगार मिलेगा पलायन रुकेगा।

सीमा पर गरजेंगी बुन्देलखण्ड में बनी तोप

आल्हा ऊदल जैसे वीरों की भूमि की नब्ज को पहचानते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बुन्देलखण्ड डिफेंस कॉरिडोर में तोप का निर्माण भी किया जाएगा जो सीमा पर दुश्मनों के सामने गरजेंगी।

पर्यटन के मानचित्र पर होगा बुन्देलखण्ड

प्राचीन धार्मिक एतिहासिक व प्राकृतिक धरोहरों को संजोए बुन्देलखण्ड को अभी तक पर्यटन के क्षेत्र में वो पहचान नहीं मिल पाई जिसकी उसे दरकार थी। मुख्यमंत्री ने इस दुखती रग पर हांथ रखते हुए बुन्देलखण्ड को पर्यटन के मानचित्र पर ध्रुव तारे की तरह चमकाने की कसम खाई। प्रयागराज कुम्भ 2019 का हवाला देते हुए उन्होंने उसी तर्ज पर इलाके का विकास करने का वादा किया और आवागमन के विभिन्न माध्यमों से बुन्देलखण्ड को जोड़ने का खाका खींचा।

विपक्षियों पर जमकर साधा निशाना भाजपा को बताया मसीहा

बुन्देलखण्ड के बहाने विपक्षियों पर निशाना साधते हुए सीएम योगी ने सपा बसपा व कांग्रेस को कटघरे में खड़ा किया। उन्होंने कहा कि इन पार्टियों की सरकारों ने गरीबों का हक नहीं दिया। इनके शासनकाल में भू माफिया पैदा हुए जिन्होंने गरीबों आदिवासियों की जमीनें छीनी लेकिन भाजपा सरकार ने गरीबों को उनका हक दिया।

इस मामले में तोड़ा कल्याण सिंह व मुलायम सिंह का रिकॉर्ड

बुन्देलखण्ड या यूं कहें कि जनपद दौरे व रात्रि विश्राम को लेकर सीएम योगी प्रदेश के अभी तक के सभी मुख्यमंत्रियों से आगे निकल गए हैं। बतौर उदाहरण पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह सन 1997 में भाजपा के चिंतन शिविर में आए थे उस दौरान उन्होंने एक रात प्रवास किया था। इसी तरह सन 2005 में तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने सपा के चिंतन शिविर में शिरकत करते हुए 10 से 12 सितंबर के बीच दो रात तपोभूमि में गुजारी थी। हालांकि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी अपने कार्यकाल के दौरान तीन बार( मार्च 2013, जून 2013, व अक्टूबर 2016) जनपद दौरे पर आ चुके हैं लेकिन उन्होंने रात्रि प्रवास नहीं किया।

वर्तमान सीएम योगी आदित्यनाथ अभी तक तीन बार(23-24 अक्टूबर 2017, 12-13 मार्च 2018 और अब 13-14 सितंबर 2019) भगवान राम की तपोभूमि के दौरे पर आ चुके हैं और इन सभी के दौरान उन्होंने रात्रि प्रवास किया है यानी प्रदेश के किसी भी मुख्यमंत्री से ज्यादा सीएम योगी ने अभी तक 6 दिन व 3 रातें जनपद गुजारी हैं और ऐसा करने वाले वे पहले मुख्यमंत्री बन गए हैं।