स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दशकों से खूंखार शैतानों की दहशत में सांस लेता विकास की बाट जोह रहा पाठा न जाने इस रात की सुबह कब होगी

Akansha Singh

Publish: Aug 10, 2019 12:32 PM | Updated: Aug 10, 2019 12:32 PM

Chitrakoot

प्रकृति के अनुपम सौंदर्य की गोद में बसा बुन्देलखण्ड का पाठा क्षेत्र दशकों से कई दुश्वारियों से जूझ रहा है और आज भी लड़खड़ाते हुए सरकारी योजनाओं के ट्रैक पर चलने की कोशिश कर रहा है।