स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भीड़ ने साधु को इतना पीटा कि हो गई मौत, बच्चा चोर की अफवाह फैली तो पुलिस ने किया इनकार

Nitin Srivastva

Publish: Sep 12, 2019 14:34 PM | Updated: Sep 12, 2019 14:34 PM

Chitrakoot

चित्रकूट में बच्चा चोर समझकर एक वृद्ध साधू को जमकर पीटने और इलाज के दौरान उसकी मौत का मामला सामने आया है...

चित्रकूट. चित्रकूट में बच्चा चोर समझकर एक वृद्ध साधू को जमकर पीटने और इलाज के दौरान उसकी मौत का मामला सामने आया है। इस वारदात को लेकर पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि पुलिस ने वृद्ध को बच्चा चोर बताने वाली चर्चाओं का खंडन करते हुए कहा कि वृद्ध को अपराधी समझकर कुछ लोगों ने पीटा था जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। मृत साधू की पहचान 70 वर्षीय राम भरोसे के रूप में की गई है।


बच्चा चोर समझकर पीटने की आशंका

घटना जनपद के मानिकपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत पनहाई गांव की है। जानकारी के मुताबिक शाहजहांपुर निवासी वृद्ध (उम्र लगभग 70 वर्ष) रामभरोसे गांव में ही घूम रहा था। राम भरोसे एक दशक पूर्व संन्यास ले लिए थे। तब से वह चित्रकूट के मठ-मंदिरों के साथ गांवों में घूमकर जीवन यापन करते थे। बुधवार दोपहर करीब एक बजे वह मानिकपुर थाना क्षेत्र के पनहाई गांव पहुंचे। इसी दौरान कुछ लोगों ने उसे संदिग्ध समझते हुए पीटना शुरू कर दिया। पिटाई से वृद्ध मरणासन्न अवस्था में पहुंच गया। घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंची डायल 100 ने घायल अवस्था में वृद्ध को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मानिकपुर में भर्ती कराया। जहां से हालत गंभीर होने पर उसे जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया गया। जिला अस्पताल में इलाज के दौरान घायल वृद्ध की मौत हो गई। जिसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।


पुलिस ने बच्चा चोर मानने से किया इनकार

घटना के पीछे वृद्ध को बच्चा चोर समझकर पीटने की चर्चा ने पुलिस को सकते में ला दिया। पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार झा ने घटना के बारे में बताते हुए कहा कि वृद्ध को गांव में देखा गया था, उसके पास कुल्हाड़ी भी थी। इसी को लेकर कुछ लोगों ने उसे अपराधी समझ लिया और उससे पूछताछ शुरू कर दी। एसपी के मुताबिक वृद्ध व्यक्ति विक्षिप्त किस्म का था, जिससे वह अपना नाम पता नहीं बता पाया। इस पर अपराधी समझते हुए तीन लोगों ने उसके साथ मारपीट की। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल वृद्ध को अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना के बाद तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिन्होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। पुलिस के मुताबिक बच्चा चोर समझकर पीटने की चर्चा सही नहीं है।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: अब उत्तर प्रदेश में अब होंगे दो चालान, नए मोटर व्हीकल एक्ट के बाद एक और बड़ा झटका