स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कुख्यात डाकू बबुली कोल की हुई मौत? पुलिस ने जंगल में डाला डेरा, बीहड़ में चर्चाओं का बाजार गर्म

Abhishek Gupta

Publish: Sep 15, 2019 23:01 PM | Updated: Sep 15, 2019 23:01 PM

Chitrakoot

यूपी के मोस्ट वांटेड 6 लाख के इनामी कुख्यात डकैत बबुली कोल के गैंगवार में ढेर होने की आशंका जताई जा रही है।

चित्रकूट. यूपी के मोस्ट वांटेड 6 लाख के इनामी कुख्यात डकैत बबुली कोल के गैंगवार में ढेर होने की आशंका जताई जा रही है। इनामी कुख्यात डाकू बबुली कोल गैंग में गैंगवार होने पर ताबड़तोड़ गोलियां चली हैं, जिसमें सरगना समेत तीन सदस्य को गोली लगने की सूचना है। पुलिस की टीम इस सूचना से उत्साहित हैं जिसका बाद अधिकारियों ने जंगल में डेरा जमाया है। फिलहाल समाचार लिखे जाने तक किसी के शव की बरामदगी नहीं हुई है, लेकिन घटनास्थल पर खून व कई सामग्री पुलिस को जरूर मिली है।

ये भी पढ़ें- यूपी में हुआ बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, एक दर्जन उप जिलाधिकारियों के हुए तबादले, देखें लिस्ट

रकम के बंटवारे को लेकर विवाद की आशंका-

जानकारों के अनुसार गैंग के सदस्यों में रकम के बंटवारे को लेकर विवाद हुआ है। हालांकि आईजी रींवा ने अभी किसी की मौत की पुष्टि नहीं की है। बताया जा रहा है कि जिले की सीमा से सटे धारकुंडी जिला सतना मप्र क्षेत्र के वीरपुर पंचायत के चमरी पहाड़ के नीचे जंगल के पास रविवार की शाम को कुख्यात डाकू बबुली कोल गैंग की मौजूदगी की सूचना मिली। बोला जा रहा है कि विवाद में गैंग के सदस्य लाले कोल ने गोली चलाई है। मौके पर भगदड़ मच गई और अन्य सदस्यों ने भी ताबडतोड़ फायरिंग शुरू कर दी।

ये भी पढ़ें- यूपी में दलित युवक की जिंदा जलाकर बेरहमी से हत्या, सदमे से मां की भी हो गई मौत, यूपी पुलिस में हड़कंप

गोली चलने की जानकारी होते ही रींवा आईजी चंचल शेखर ने भारी पुलिस फोर्स के साथ वहां पहुंच कर गैंगवार वाले स्थान की तलाश शुरू कर दी है। देर शाम को प्रतापपुर गांव के चमरी पहाड़ के नीचे जंगल के एक स्थान पर पुलिस टीम को खून मिला है। सूत्रों के अनुसार गैंग सरगना बबुली कोल को भी गोली लगी है और उसके मरने की संभावना है।

Babuli Kol

पुलिस टीम में यह शामिल-
आईजी रींवा का कहना है कि भारी पुलिस फोर्स जंगल में है जल्द ही कोई सफलता जरूर मिलेगी। इसके लिए पूरा प्रयास किया जा रहा है। उनके साथ पुलिस उपमहानिरीक्षक रीवा जोन अविनाश शर्मा, पुलिस अधीक्षक सतना रियाज इकबाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सतना गौतम सोलंकी, एसडीओपी वीपी सिंह, थाना प्रभारी संतोष तिवारी ,थाना प्रभारी मझगवा ओपी सिंह, थाना प्रभारी धारकुंडी पवन कुमार, थाना प्रभारी थाना बरौंधा केएस टेकाम, एडी की विशेष टीम गोपाल चौबे, सुधांशु तिवारी भी चकरी पहाड़ के आसपास मौजूद रहे।