स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नहीं लौटाई जाएगी सुरक्षा निधि

SACHIN NARNAWRE

Publish: Jul 20, 2019 16:58 PM | Updated: Jul 20, 2019 16:58 PM

Chhindwara

उपाध्यक्ष अरूण भोंसले और प्रतिपक्ष नेता ताहिर पटेल ने कहा कि जलाशय की स्वीकृति के लिए बहुत समय लगा है।

पांढुर्ना. कामठीकलां जलाशय निर्माण करने वाली एजेंसी चन्द्रनिर्माण प्रा.लि को सुरक्षा निधि लौटाने के विषय पर सभी पार्षद एकजुट नजर आये और सभी का कहना पड़ा कि अब तक शासन की ओर से कामठीकलां जलाशय को पूरी तरह से निरस्त नहीं किया गया है इसलिए इसकी सुरक्षा निधि लौटाना उचित नहीं होगा।
उपाध्यक्ष अरूण भोंसले और प्रतिपक्ष नेता ताहिर पटेल ने कहा कि जलाशय की स्वीकृति के लिए बहुत समय लगा है। शासन के एक लाइन के पत्र से इसे निरस्त नहीं माना जा सकता है। पार्षदों के विचारों को सुनकर इस विशय को यथावत रखा गया और निर्णय लिया गया कि कंपनी को फिलहाल राशि नहीं लौटाई जाएगी। बैठक में नगरीय क्षेत्र में मप्र आउट डोर विज्ञापन मीडिया नियम 2017 लागू किए जाने पर विचार करने के बाद इसे निरस्त किया गया।
स्थानीय स्तर पर ही एजेंसी इसका संचालन करेगी। सीएमओ नवनीत पांडे ने नपा को ग्राम हिवरासेनडवार में मिली 15 एकड़ भूमि के बदले कलमगांव में 5 एकड़ भूमि पर कचरा डंपिग यार्ड निर्माण करने पर पार्षदों ने जमकर नाराजगी जाहिर की। परिषद का कहना था कि हमें कलमगांव की पांच एकड़ भूमि तो चाहिए ही परंतु हिवरासेनडवार की भूमि हम नहीं छोड़ेंगे। बैठक अध्यक्ष प्रवीण पालीवाल की अध्यक्षता और उपाध्यक्ष अरूण भोंसले, सीएमओ नवनीत पांडे, सहायक यंत्री सोनु सकरवार की प्रमुख उपस्थिती में संपन्न हुई। इस बैठक में 26 में से 23 प्रस्तावों को स्वी$कृति प्रदान की गई। बैठक में कबाड़ के सामने की नीलामी करने से पहले उसके सत्यापन करने के लिए कहा गया।
दो सालों से नहीं शुरू हुए निर्माण
बैठक की शुरुआत ही हंगामेदार रही। भाजपा और कांग्रेस दल के पार्षदों ने दो वर्षों से शहर के वार्डों में निर्माण कार्य शुरू नही
किए जाने को लेकर सवाल किये जिस पर तिखी बहस हुई। अध्यक्ष ने सभी वार्डो में दो दो काम लिये जाने को लेकर सहमती प्रदान की। इस दौरान अध्यक्ष और सीएमओ ही भीड़ गए थे। जिसके बाद सीएमओ परिशद के निशाने पर रहे। बैठक नगर वार्डों में कई विकास कार्य कराए जाने पर प्रस्ताव पारित किए गए एवं स्वीकृति प्रदान की गई।