स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दावेदारों के चेहरे का रंग उड़ा सकती है यह आबादी..जानिए क्या

manohar soni

Publish: Aug 22, 2019 11:22 AM | Updated: Aug 22, 2019 11:22 AM

Chhindwara

प्रदेश के 16 निगम में सबसे ज्यादा 13.27 फीसदी एसटी होने से छिंदवाड़ा के रिजर्वेशन पर नजर

 

छिंदवाड़ा.प्रदेश के 16 नगर निगम में छिंदवाड़ा की सर्वाधिक आदिवासी आबादी महापौर पद के सामान्य दावेदारों के चेहरे का रंग उड़ा सकती है। इस निगम में आदिवासियों की संख्या 13.27 प्रतिशत होने से आरक्षण की लॉटरी इस वर्ग के पक्ष में जाने के संकेत मिल रहे हैं। हालांकि इस आरक्षण को रोकने सामान्य वर्ग के सत्तासीन नेता अभी से ही सक्रिय हो गए हैं। वे ऐन-केन-प्रकारेण इस सीट को सामान्य बनाए रखने प्रयासरत है। राजनीतिक और प्रशासनिक गलियारों में इसकी चर्चाएं तेज हो गई है।
जिला प्रशासन द्वारा नगरीय प्रशासन विभाग को भेजी गई जानकारी पर गौर किया जाए तो छिंदवाड़ा नगर निगम क्षेत्र की वर्ष 2011 की जनसंख्या 215843 है। इसमें अनुसूचित जाति 13.40 तथा अनुसूचित जनजाति 13.27 फीसदी है। आदिवासियों का जिक्र इसलिए बार-बार हो रहा है कि प्रदेश के 16 नगर निगम में सबसे ज्यादा आदिवासी छिंदवाड़ा में मौजूद है। इस हिसाब से एक सीट आदिवासियों के नाम पर आरक्षित हो सकती है। एसटी के आरक्षण के हिसाब से यह नगर निगम सबसे उपयुक्त है। पिछली बार 2015 में पहला चुनाव होने से नगर निगम के आरक्षण पर उतना ध्यान नहीं दिया गया था। इस बार प्रदेश के सभी निगमों के साथ छिंदवाड़ा का चुनाव संभावित होने से आरक्षण प्रक्रिया पर हर किसी की नजर है। राजनीतिक गलियारों में चल रही चर्चाओं के अनुसार इस आरक्षण के गणित से सर्वाधिक खलबली सत्ताधारी दल के सामान्य वर्ग के दावेदारों में देखी जा रही है। वे जनसंख्या के अनुपात के इस गणित की काट के लिए प्रयासरत है। अभी से ही इस समस्या का हल ढूंढने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रहे हैं। उनके दावे के विपरीत आरक्षण आदिवासी वर्ग के पक्ष में जाता है तो उनके चेहरे लटक सकते हैं। यह सब कुछ सत्ता के कर्ताधर्ताओं पर निर्भर करेगा। फिलहाल छह माह बाद फरवरी 2019 में होनेवाले आरक्षण की संभावनाओं पर कयास राजनीतिक और प्रशासनिक क्षेत्र में लगाए जा रहे हैं।
....
दस निकायों के अध्यक्ष पद भी आएंगे नए चेहरे

नगर निगम के साथ दस निकाय नगरपालिका अमरवाड़ा,चौरई,परासिया,नगर पंचायत चांदामेटा,बडक़ुही,न्यूटन,चांद, बिछुआ,लोधीखेड़ा और पिपलानारायणवार में अध्यक्ष पद के चुनाव होने हैं। इन इलाकों के इस महत्वपूर्ण पदों का आरक्षण भी फरवरी में होगा। यह तय है कि इस बार के आरक्षण के बाद नए चेहरों को मौका मिलेगा। यहां भी राजनीतिक सुगबुगाहट के साथ भविष्य की रणनीति बनना शुरू हो गई है।
....
निकायों में एसटी-एससी की आबादी(वर्ष 2011 के आधार पर)
निकाय कुल आबादी एससी प्रतिशत एसटी प्रतिशत
छिंदवाड़ा 215843 28917 13.40 28627 13.27
पांढुर्ना 45479 3939 8.66 2736 6.02
परासिया 39474 6705 17.03 4884 12.40
जुन्नारदेव 22582 3615 16.01 2246 9.95
दमुआ 24663 6336 25.69 4264 17.29
अमरवाड़ा 14145 2114 14.95 1281 9.06
चौरई 12956 1233 9.52 1085 8.37
हर्रई 10991 2637 23.99 2308 21.00
न्यूटनचिखली 9840 2097 21.31 1184 12.03
चांदामेटा 16497 3085 18.70 1962 11.89
बडक़ुही 9895 2192 22.15 1770 17.89
लोधीखेड़ा 9950 855 8.59 163 1.64
मोहगांव हवेली 9909 796 8.03 559 5.64
पिपला 8595 705 8.20 235 2.73
चांद 10230 1111 10.86 1207 11.80
बिछुआ 6403 889 13.88 706 11.03
....