स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जल्द होगी हर आधा घंटे में मौसम की रिपोर्टिंग..कारण है यह

manohar soni

Publish: Aug 20, 2019 11:29 AM | Updated: Aug 20, 2019 11:29 AM

Chhindwara

एक मौसम वैज्ञानिक समेत तीन कर्मचारियों के स्टाफ की नियमित नियुक्ति कर दी है।

छिंदवाड़ा.छिंदवाड़ा में रीजनल हवाई सेवा की सुगबुगाहट शुरू होते ही मौसम विभाग ने एक मौसम वैज्ञानिक समेत तीन कर्मचारियों के स्टाफ की नियमित नियुक्ति कर दी है। एयरपोर्ट बनने पर जैसे ही विमानों का आवागमन प्रारंभ होगा,वैसे ही विभाग हर आधे घंटे में बादल,हवा और आद्रता की रिपोर्टिंग के लिए वरिष्ठ वैज्ञानिकों को पहुंचाएगा। इसके आधार पर ही विमानों की रवानगी तय की जाएगी।
पिछले 15 साल से कलेक्ट्रेट रोड में स्थापित मौसम विभाग के दफ्तर में मार्च से पहले अधिकांश समय ताला लगा रहता था। जब से वैज्ञानिक केवल गेडाम और दो सहायकों की स्थायी नियुक्ति हुई है,तब से सुबह से शाम तक चार समय मौसम की रिपोर्टिंग हो रही है। इसके आंकड़े रीजनल कार्यालय नागपुर में भेजे जा रहे हैं। कर्मचारियों के अनुसार मौसम विभाग का ज्यादातर काम तापमान,वायुदाब,हवा की गति और बादल के अध्ययन पर केन्द्रित है। छिंदवाड़ा में अभी तक विभाग की गतिविधियां केवल दिन और रात के तापमान तथा बारिश के आंकड़े भेजने तक सीमित रही है। प्रदेश सरकार ने यहां रीजनल हवाई सेवा केन्द्र खोलने की घोषणा की है। एयरपोर्ट शुरू होने पर विमानों की आवाजाही शुरू होगी,तब मौसम वैज्ञानिक ही स्थानीय मौसम का अध्ययन कर प्लेन की रवानगी तय करेंगे। एयर सेवा में इस रिपोर्टिंग की महत्वपूर्ण भूमिका है। मौसम विभाग में कार्यरत वैज्ञानिक सहायक अमरजीत सिंह ने बताया कि अभी तापमान और बारिश के आंकड़े चार समय में मौसम रीजनल केन्द्र में पहुंचाए जा रहे हैं।
....
छिंदवाड़ा की आबोहवा विश्लेषण के लिए बेहतर
छिंदवाड़ा जिला मुख्यालय समुद्र तल से 675 मीटर ऊपर है। इसकी आबोहवा मानसून के अध्ययन के लिए बेहतर है। विभागीय दफ्तर में फिलहाल हवा,तापमान व वर्षामापक यंत्र है। एयरपोर्ट बनने पर पीवीओ अर्थात् गुब्बारा आसमान में छोडकऱ वायुदाब यंत्र की स्थापना होगी और वरिष्ठ वैज्ञानिक समेत 20 कर्मचारियों का स्टाफ आएगा। इससे छिंदवाड़ा समेत पूरे जिले के मौसम का अध्ययन यहीं होगा। फिलहाल मौसम का सटीक विश्लेषण के लिए नागपुर आंकड़े भेजे जाते हैं,जहां से उसे पुणे पहुंचाया जाता है,जहां के वैज्ञानिक इसका अध्ययन करते हैं।
...
मुख्यालय की बारिश और चार टाइम तापमान
मौसम विभाग के दफ्तर में इस समय तहसील मुख्यालय छिंदवाड़ा की बारिश तथा तापमान सुबह 8.30 बजे,11.30 बजे,2.30 बजे और शाम 5.30 बजे अधिकतम और न्यूनतम मापने का काम है। एयरपोर्ट आने पर हर आधे घंटे में मौसम की रिपोर्टिंग होगी। यह केन्द्र विभाग के हिसाब से पूर्वी मप्र में आता है लेकिन इसका रीजनल सेंटर नागपुर है।