स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Online Registration: किसानों को आज मिलेगा अंतिम मौका, चूके तो हो सकता है नुकसान

Prabha Shankar Giri

Publish: Oct 23, 2019 12:29 PM | Updated: Oct 23, 2019 12:29 PM

Chhindwara

Online Registration: पिछले साल से 40 हजार पंजीयन कम, मक्का बेचने के लिए पंजीयन की आखिरी तारीख आज

छिंदवाड़ा/ खरीफ की फसलों को बेचने के लिए किसानों के पंजीयन की बुधवार को आखिरी तारीख है। जिले में सहकारी समितियों के जरिए ऑनलाइन पंजीयन और नवीनीकरण किसानों को कराना है यदि वे सरकार को समर्थन मूल्य पर मक्का बेचना चाहते हैं। इस बार पिछले साल की तुलना में 40 हजार किसानों के पंजीयन कम हुए हैं। पिछले वर्ष मक्का बेचने के लिए 95 हजार किसानों ने पंजीयन कराया था। इस बार मंगलवार तक 50 हजार किसान ही समिति कार्यालयों तक पहुंचे हैं। एक दिन में यह संख्या पिछले साल के आंकड़े को छू पाएगी इसकी सम्भावना कम ही है। इधर मंगलवार को अधिकारियों ने समितियोंं के जरिए क्षेत्र के किसानों को पंजीयन के लिए आगे आने कहा है और समितियों में नाम दर्ज कराने कहा है।

कम उत्पादन और गुणवत्ता भी एक कारण
इस बार अतिवृष्टि के कारण फसलों के कम उत्पादन और क्वालिटी के भी बिगडऩे की स्थिति दिख रही है। मक्का की फसल भी चालीस प्रतिशत तक खराब होने की आशंका है। यही कारण है कि किसानों की संख्या कम है। पिछले बार बम्पर उत्पादन के कारण किसान पंजीयन कराने बड़ी संख्या में समितियों के कार्यालय पहुंचे थे और सरकार को रिकॉर्ड मक्का किसानों ने बेची थी। इस बार ज्यादा बारिश ने हाल बिगाड़ दिए हैं। यही कारण है कि निराश किसान पंजीयन में रुचि नहीं दिखा रहे।

कई जगह अभी टूटी नहीं मक्का
ज्यादातर खेतों में अभी मक्का टूटी ही नहीं है। पिछले एक सप्ताह से मौसम फिर बदल गया है। बूंदाबांदी और घने बादलों भरे मौसम के कारण किसान खेतों से भुट्टा तोडऩे में भी डर रहे हैं। तेज धूप निकले तो भुट्टों को तोडकऱ उन्हें सुखाने के लिए खुले आसमान में रखें। मौसम की अनिश्चितता के कारण इसमें देर होती जा रही है।