स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Mini Smart City: मुख्यमंत्री के सपनों पर ग्रहण बनी यह वजह

Prabha Shankar Giri

Publish: Sep 23, 2019 08:00 AM | Updated: Sep 23, 2019 01:14 AM

Chhindwara

बजट के पेंच से लेट हो सकता है प्रोजेक्ट, नगर निगम में चल रही निर्माण की टेण्डर प्रक्रिया

छिंदवाड़ा/ शहर के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट मिनी स्मार्ट सिटी में बजट का पेंच आ गया है। नगरीय प्रशासन विभाग से इसका इंतजार बना हुआ है। इस बीच नगर निगम प्रोजेक्ट निर्माण की टेण्डर प्रक्रिया पूरी करने में लगा हुआ है। बजट के अभाव में शहर में यह आशंका जताई जा रही है कि प्रोजेक्ट की शुरुआत में समय लग सकता है।
बीती नौ अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस पर सीएम ने नगर निगम के 33 करोड़ 91 लाख 64 हजार रुपए लागत के स्मार्ट सिटी के अंतर्गत शहर के विभिन्न स्थानों पर सौंदर्यीकरण और अधोसंरचना विकास कार्य का भूमिपूजन किया था। इसके बाद इसकी टेण्डर प्रक्रिया शुरू की गई थी। इसकी एजेंसी फाइनल होकर वर्क आर्डर की प्रक्रिया चल रही है। इस बीच निगम में इसका बजट नहीं आया है। हालांकि निगम अधिकारी भरोसा जता रहे हैं कि टेंडर की पूरी प्रक्रिया होने के बाद बजट आ सकता है। सीएम का शहर होने से किसी भी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। इधर, शहर में चर्चा है कि प्रदेश का सरकारी खजाना खाली होने से आवश्यक कामकाज तक में समस्या आ रही है। सरकार का ध्यान बाढ़़ पीडि़तों के राहत बचाव कार्य में लग गया है। ऐसे में मिनी स्मार्ट सिटी को समय पर बजट मिल जाए, यह कहना काफी मुश्किल है।
इस प्रोजेक्ट में भरतादेव बायोडायवर्सिटी पार्क , जेल बगीचा स्वीमिंग पुल, कैफेटेरिया और बगीचा, धरमटेकड़ी का सौंदर्यीकरण, लेफ्ट टर्न, हॉकर्स जोन, गोशाला समेत अन्य निर्माण कार्य करने की योजना बनाई गई है।

मिनी स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए अभी टेंडर प्रक्रिया चल रही है। इसके पूर्ण होने पर विभागीय बजट से निर्माण कार्य कराए जाएंगे।
-इच्छित गढ़पाले, आयुक्त नगर निगम