स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का खुलासा: दो सगे भाइयों से लाखों के वाहन जब्त

Prabha Shankar Giri

Publish: Aug 22, 2019 10:58 AM | Updated: Aug 22, 2019 10:58 AM

Chhindwara

कई राज्यों में करते थे चोरी

छिंदवाड़ा. जिले से लगातार दोपहिया और चौपहिया वाहनों की चोरी हो रही है। चोर छोटे वाहनों की बात तो दूर ट्रैक्टर चुराने में भी पीछे नहीं हट रहे हैं। उमरेठ थाना पुलिस ने बुधवार को अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का पर्दाफाश किया। दो चोरों को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने जिले के साथ ही राज्य के बाहर से भी वाहन चुराना कबूला। आरोपियों की निशानदेही पर पंद्रह लाख रुपए कीमत के वाहन जब्त किए हैं। दोनों को न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लिया गया है।
एसपी मनोज कुमार राय एवं एएसपी शशांक गर्ग ने बताया कि उमरेठ की शांति कॉलोनी निवासी रेवतीराम प्रजापति ने १० अगस्त को रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उसका ट्रैक्टर क्रमांक एमपी २८ एए ८७०३ एवं ट्रॉली क्रमांक एमपी २८ एए ३६९२ शीलादेही तिराहा रोड घर के सामने से आठ एवं नौ अगस्त की रात को चोरी हो गया। प्रकरण दर्ज कर परासिया एसडीओपी डॉ. अरविंद सिंह के मार्गदर्शन में चोरों को पकडऩे के लिए एक टीम का गठन किया गया। टीआइ राजेश पटेल ने बल के साथ पूर्व के आरोपितों से पूछताछ की।
छिंदवाड़ा के चांद थाना क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम हिवरा जयसी निवासी इमरान अली (२५) यासीन अली (१९) दोनों सगे भाइयों को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने वारदात को अंजाम देना कबूल किया।

कार से आए थे ट्रैक्टर चुराने
एसडीआेपी डॉ. अरविंद सिंह ने बताया कि पकड़े गए चोर इमरान एवं यासीन सगे भाई हंै। ये दोनों अपने सगे तीसरे भाई नाजिम एवं सिवनी निवासी यासीन बच्चा के साथ दो कार से ट्रैक्टर चुराने के लिए आए थे। चोरी किया ट्रैक्टर जब्त कर लिया गया है। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने छत्तीसगढ़ के भिलाई से तीन कार, सिवनी से दो बाइक, बालाघाट के लालबर्रा, छिंदवाड़ा के उमरानाला एवं गांगीवाड़ा से तीन ट्रैक्टर चोरी कर ले जाना कबूला है। पुलिस एक ट्रैक्टर, तीन कार और दो बाइक जब्त कर चुकी है जिनका बाजार मूल्य १५ लाख रुपए आंका जा रहा है। अन्य आरोपितों की तलाश जारी है। उम्मीद जताई जा रही है कि और भी चोरी का खुलासा हो सकता है।

इन्होंने पकड़े चोर
टीआइ राजेश पटेल, प्रधान आरक्षक ओमप्रकाश, राजेन्द्र नागवंशी, रतिराम, सुबोध मालवीय, अजय सिंह बैस, आरक्षक प्रकाश, विनोद, भदैयसिंह, अनिल कुमरे, महिला आरक्षक ज्योति तिवारी, सैनिक रामदास पवार एवं नरेश ठाकुर की अहम भूमिका रही।