स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बारिश से खिले चेहरे

Arun Garhewal

Publish: Jul 20, 2019 23:51 PM | Updated: Jul 20, 2019 23:51 PM

Chhindwara

बारिश से खेतों में मुरझा रही फसलें एक बार फिर खिल उठी, उन्हें नया जीवनदान मिल गया।

छिंदवाड़ा. जुन्नारदेव. शुक्रवार को पूरे जिले में श्रावण मास की पहली बारिश हुई जिससे लोगों के चेहरों में खुशी देखी गई। बारिश से खेतों में मुरझा रही फसलें एक बार फिर खिल उठी, उन्हें नया जीवनदान मिल गया। गौरतलब हो कि विकासखंड में बीते एक पखवाड़े से बारिश नहीं होने के चलते किसानों की फसलें सूखने की कगार पर भी इसके लिए विकासखंड में जगह-जगह पूजन अर्चन, सत्ता के साथ ही टोटकों का दौर भी जारी था ऐसे में झमाझम बारिश के जिले सहित विकासखंड में आने के साथ ही लोग इस बारिश में जमकर झूमते नजर आये। सबसे अधिक खुशी किसानों के चेहरे पर दिखाई दी।
उमरेठ. शुक्रवार दोपहर में क्षेत्र में करीब दो घटे तक मूसलाधार बारिश हुई जिससे गली मोहल्ले पानी से लबालब हो गए। सूखे से नष्ट हो रही किसानों की फसलों को भी संजीवनी मिल गई। लंबे अरसे से सूखा झेल रहे किसानों पर इन्द्रदेव मेहरबान हो गए और कई दिन से पड़ रही गर्मी के बाद शुक्रवार दोपहर हुई बारिश से राहत महसूस हुई।
सारंगबिहरी. सारंगबिहारी और इसके आसपास के ग्राम तुर्कीखापा गोहजर, झिरिया, पिंडरई, बामला निशान में बारिश के बाद किसानों के चेहरे खिल गए। मौसम विभाग के अनुसार आगामी दिनों में बारिश का दौर जारी रहेगा।
मोहखेड़. शुक्रवार शाम लगभग छह बजे जोरदार बारिश शुरू हुई लगभग डेढ़-दो घंटे तक हुई बारिश से किसानों के चेहरे खुशी से खिल उठे वहीं फसलों को भी जीवन दान मिल गया। हालांकि मोहखेड़-राजेगांव रोड में पानी भर गया जिससे राहगीरों को परेशानी हुई।
परासिया . लंबे समय से बारिश का इंतजार कर रहे लोगो ने शुक्रवार को हुई झमाझम बारिश से राहत की सांस ली। पिछले तीन दिनो से बारिश का माहौल बन रहा था लेकिन बादल बिना बरसे निकल जा रहे थे। शुक्रवार की दोपहर से देर रात तक हुई बारिश ने किसानो सहित आम लोगो के चेहरे में मुस्कराहट ला दी। पानी के अभाव में मक्के की फसल चौपट होने की कगार पर थी लेकिन बारिश ने उसमें नई जान डाल दी वहीं तापमान कम होने से गरमी और उमस से लोगो की परेशानी कम हुई।