स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

साहब! नलों में आ रहा गंदा पानी

Sanjay Kumar Dandale

Publish: Aug 21, 2019 20:15 PM | Updated: Aug 21, 2019 17:49 PM

Chhindwara

मंगलवार को तो नलों से नाली का गंदा पानी आया जिसे देखकर वार्डवासियों के होश उड़ गये।

छिंदवाड़ा/पांढुर्ना. शहर के महावीर वार्ड के नागरिकों की नलो में गंदा पानी आने की समस्या खत्म होने का नाम
नही ले रही है। बीते लंबे समय से नलों में गंदा पानी आ रहा है। मंगलवार को तो नलों से नाली का गंदा पानी आया जिसे देखकर वार्डवासियों के होश उड़ गये।
नाराज वार्डवासियों ने एसडीएम कार्यालय पहुंचकर एसडीएम को गंदा पानी दिखाया और बताया कि नगर पालिका कह रही है कि उनके पास पाईप लाईन सुधारने के लिए पैसे नही है। वार्ड में रहने वाले संजीव इंगोले ने बताया कि पाइपलाइन को लगकर नाली बनाई है। यहां पाइपलाइन क्षतिग्रस्त है। इस नाली का पानी पाइपलाइन के जरिए नलों में आ रहा है। नगर पालिका को सुधार की मांग की। उन्होंने थोडा बहुत काम कर के चले गए फिर से पानी गंदा आया। वार्ड में रहने वाले चिकित्सकों ने बताया कि पानी पियोंगे तो बीमार पड़ जाओगे। वार्डवासियों ने बताया कि पाइपलाइन 30 साल पुरानी है जो जगह जगह से टूटती जा रही है इसलिए इसे बदला जाना बहुत जरूरी है। ज्ञापन सौंपने वालों में रामभाउ खोड़े, प्रमोद आमने, नारायण अरमरकर, रश्मि मासोतकर, विमल सुधीर धांडोले, रमेश कदम, रामदास पाबले, आदि उपस्थित थे।

आज से दो दिन के अंतराल में होगी पानी की सप्लाई
पांढुर्ना. भाजपा और कांग्रेस पार्षद दल ने ज्ञापन सौंपकर पेयजल आपूर्ति पूर्ववत करने की मांग के बाद नगर पालिका ने निर्णय ले लिया है कि वे बुधवार से शहर के 30 वार्डों में दो दिनों के अंतराल में पेयजल आपूर्ति करेगी। इसे लेकर अध्यक्ष और सीएमओ ने भी सहमति प्रदान कर दी है।
इस व्यवस्था को सभी वार्डो में सुचारू होने में एक सप्ताह का समय लगने की बात कही जा रही है। वर्तमान में पांचवें दिन नल दिया जा रहा था जिसके फलस्वरूप प्रतिदिन लगभग 25 से 28 लाख लीटर पानी की जरूरत पड़ रही थी। अब दो दिनों के अंतराल में पेयजल आपूर्ति करने पर 35 से 38 लाख लीटर पानी प्रतिदिन जरूरत पड़ेगी। नगरीय क्षेत्र में नपा के बोर रिचार्ज होने से यह मांग पुरी होगी।
सीएमओ नवनीत पांडे ने बताया कि शुक्रवार बाजार और शांति निकेतन की पानी टंकी में जलाशय आदि से पानी की आपूर्ति कर भरी जाती है लेकिन शंकर नगर की पानी टंकी ट्यूबवेल पर आश्रित है। जिससे उसका भर पाना थोड़ा मुश्किल है। जल विभाग के अनुसार दो दिनों बाद मिलने वाले नल में लगभग आधा घण्टा पेयजल आपूर्ति होगी।