स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Demand : छिंदवाड़ा को संभाग बनाने सौंपा ज्ञापन

Rajendra Sharma

Publish: Oct 21, 2019 13:20 PM | Updated: Oct 21, 2019 12:02 PM

Chhindwara

सोनपुर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान रखी मांग

छिंदवाड़ा/ जिले के सांसद नकुलनाथ को राष्ट्रवादी कांग्रेस के जिला अध्यक्ष सुनील चौरसिया ने अन्य पदाधिकारियों के सोनपुर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान छिंदवाड़ा को संभाग बनाने को लेकर एक ज्ञापन सौंपा।
चौरसिया ने सांसद को ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया कि शहडोल जिले के तीन जिले बनकर संभाग का गठन हो चुका है, इसी तरह होशंगाबाद जिले का भी दो जिले बनाकर गठन हो चुका है। वहीं ग्वालियर संभाग से अलग होकर चंबल संभाग का गठन हो चुका है। इन्दौर संभाग के पास पृथक से उज्जैन संभाग का गठन हो चुका है।
मध्यप्रदेश का वर्तमान में क्षेत्रफल में सबसे बड़ा जिला छिंदवाड़ा है जो जबलपुर से 220 किलोमीटर दूरी पर है। उन्होंने बताया कि जिले की यूनिवर्सिटी में शामिल सिवनी, बालाघाट, छिंदवाड़ा जिले को मिलाकर छिंदवाड़ा संभाग बनाया जाए एवं प्रदेश में निम्न जिले 2-2 विधानसभा से मिलकर बने हैं जैसे श्योपुर, उमरिया, डिण्डोरी, हरदा, बुरहानपुर, अलीराजपुर। छिंदवाड़ा जिले में वर्तमान में तीन वनमंडलाधिकारी (भा.व.से.) का कार्य क्षेत्र हैं। अत: पूर्व वनमंडल के कार्य क्षेत्र में आनी वाली विधानसभा छिंदवाड़ा, चौरई एवं अमरवाड़ा विधानसभा मिलाकर छिंदवाड़ा पश्चिम वनमंडल की परासिया एवं जुन्नारदेव विधानसभा मिलाकर जुन्नारदेव एवं दक्षिण वनमंडल की पांढुर्ना एवं सौंसर विधानसभा को मिलाकर पांढुर्ना या सौंसर जिला गठन करना जिले के विकास एवं जनहित में वर्तमान अनुकूल परिस्थितियों में नितांत आवश्यक है। इसी तरह छिंदवाड़ा की विकास खंड एवं तहसील मुख्यालय मोहखेड़ एवं तामिया को विकास की दृष्टि विशेषाधिकार का उपयोग कर नगर परिषद का गठन कराने की पहल करें।